इंडियन आयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईओसी) को कुल राजस्व के मामले में पीछे छोड़ा

जनता से रिश्ता वेबडेस्क: तेल एवं गैस, दूरसंचार और खुदरा कारोबार समेत अन्य क्षेत्रों में कार्यरत देश के सबसे बड़े धनकुबेर मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) ने सार्वजनिक क्षेत्र की अग्रणी तेल शोधन कंपनी इंडियन आयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईओसी) को कुल राजस्व के मामले में पीछे छोड़ दिया है।आईओसी की बिक्री 31 मार्च 2019 को समाप्त वित्त वर्ष में आठ अरब 79 करोड़ डॉलर (61 खरब 70 अरब रुपये) रही। आरआईएल ने इस मामले में आईओसी को पछाड़ते हुये पिछले वित्त वर्ष में 62 खरब 30 करोड़ रुपये का कारोबार किया। आरआईएल की कुल आय में उसके खुदरा, दूरसंचार और डिजिटल सेवाओं से प्राप्त होने वाला राजस्व करीब एक चौथाई रहा और इसकी बदौलत अंबानी एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गये बाजार पूंजीकरण के मामले में आईओसी से आरआईएल कहीं आगे है। आरआईएल का बाजार पूंजीकरण मंगलवार को 8,56,069.63 करोड़ रुपये रहा था जबकि आईओसी का 1,48,347.90 करोड़ रुपये रहा। आरआईएल के शेयर की कीमत आज (21 मई) मुंबई शेयर बाजार में 1350.65 रुपये थी तो आईओसी की 152.90 रुपये रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here