इंडिगो के भीतर चल रहे मतभेद पर सीईओ रोनोजॉय दत्ता का बड़ा बयान

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- देश की चर्चित एयरलाइन कंपनी इंडिगो के भीतर चल रहे मतभेद की खबरों पर कंपनी के सीईओ रोनोजॉय दत्ता का बड़ा बयान आया है. रोनोजॉय दत्ता ने कहा कि एयरलाइन के प्रमोटर राकेश गंगवाल और राहुल भाटिया के बीच कुछ मुद्दों पर मतभेद हो सकते हैं लेकिन कंपनी का इस तरह के मुद्दों को सुलझाने का काफी अच्छा रिकॉर्ड रहा है. रोनोजॉय दत्ता के इस बयान के बाद पहली बार इंडिगो के भीतर चल रहे संग्राम पर आधिकारिक तौर पर मुहर लगी है.

क्‍या है मामला

बीते कुछ दिनों से ऐसी खबरें चल रही थीं कि इंडिगो में मैनेजमेंट कंट्रोल को लेकर लड़ाई है और विस्तार रणनीति को लेकर प्रमोटर्स के बीच में मतभेद थे. ये दो प्रमोटर्स राहुल भाटिया और राकेश गंगवाल हैं. इंडिगो का संचालन करने वाली इंटरग्लोब एविएशन में भाटिया की करीब 38 फीसदी की हिस्सेदारी है जबकि गंगवाल के पास 37 फीसदी हिस्सेदारी है. यह कंपनी बंबई शेयर बाजार में सूचीबद्ध है.

क्‍या कहा सीईओ ने

इस विवाद की खबरों के बीच इंडिगो के सीईओ रोनोजॉय दत्ता ने कहा, ‘ अगर मौजूदा मतभेदों को सुलझाया नहीं जा सका तो आपको (मीडिया को) इस बारे में पता चल जाएगा. लेकिन इस संबंध में अटकलबाजी लगाने से कोई फायदा नहीं होगा.’  दत्ता ने आगे कहा, ‘हम सभी जानते हैं कि किसी भी मजबूत और बेहतर ढंग से व्यवस्थित कंपनी में कुछ-ना-कुछ मतभेद होते हैं. बेशक वर्तमान में भी कुछ मुद्दों पर मतभेद हो सकते हैं लेकिन कंपनी का मुद्दों को सुलझाने का अच्छा रिकॉर्ड रहा है और आगे भी जो मुद्दे आएंगे, उन्हें सुलझा लिया जाएगा.’

दत्ता ने बताया, ‘मैं स्पष्ट तौर पर यह कहना चाहता हूं कि आरजी (राकेश गंगवाल) समूह का कंपनी का नियंत्रण अपने हाथ में लेने में न तो कोई रूचि है और ना ही ऐसी कोई इच्छा है.’  सीईओ के मुताबिक गंगवाल का कहना है कि इस तरह के संदेशों पर भी रोक लग जानी चाहिए कि आरजी समूह कंपनी के शेयरधारक समझौते को लेकर फिर से बातचीत करवाने का प्रयास कर रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here