विश्व में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस टूल से पता चलेगा पानी के संकट से होने वाले संघर्ष

 जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- एम्सटर्डम ;विश्व के किसी हिस्से में पानी के संकट से होने वाले संघर्ष का पता पहले ही लगाया जा सकेगा। इसके लिए आर्टिफिशल इंटेलिजेंस का सहारा लिया जाएगा जो कि एक साल पहले ही बता देगा कहां पानी को लेकर लड़ाई होने वाली है और फिर उस संघर्ष को रोका जा सकेगा। नीदरलैंड्स स्थिति वॉटर, पीस ऐंड सिक्यॉरिटी पार्टनरशिप (डब्ल्यूपीएस) ने एक टूल बनाया है जो कि दुनियाभर में पानी की आपूर्ति, सामाजिक, आर्थिक व डेमोग्राफिक डेटा को ट्रैक करेगा। टेस्टिंग के दौरान इस टूल ने माली के इनर नाइजर डेल्टा में तीन चौथाई से अधिक पानी संबंधी संघर्षों का पूर्वानुमान व्यक्ति किया था। इस टूल को साल के अंत में वैश्विक रूप से लॉन्च किया जाना है। डब्ल्यूपीएस से जुड़ी सुसेन ने कहा, ‘हम पानी के लिए लड़ाई का पहले ही पता लगाना चाहते हैं और उसके बाद उस पर बातचीत करना चाहते हैं ताकि इस समस्या का समाधान किया जा सके।’ पहले भी ऐसे टूल का इजाद करने की कोशिशें हुई हैं लेकिन वह सफल नहीं हो पाई हैं क्योंकि पानी के लिए संघर्ष की वजहें इलाके के हिसाब से अलग-अलग रही हैं। उधर, डब्ल्यूपीएस ने कहा कि उनका टूल इस दिशा में एक कदम है। इस टूल में दुनियाभर के जल संसाधनों को मॉनिटर करने के लिए नासा और यूरोपियन स्पेस एजेंसी के सैटलाइट्स के डेटा का इस्तेमाल किया जाता है।