आज है नारद जयंती जानिए महत्त्व और मान्‍यताएं

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- आज 20 मई सोमवार को नारद जयंती मनाई जा रही है. नारद मुनि परमपिता ब्रह्मा के 17 मानस पुत्रों में से एक थे. नारद मुनि इतने ज्ञानी थे कि तीनों लोक के देवता, असुर और मनुष्य उनकी बात मानते थे और उन्हें सम्मान देते थे. नारद ने नारद पुराण की रचना की थी. इस ग्रन्थ में कई ज्ञान की बातें संकलित हैं. इसमें उन्होंने बताया है कि कलियुग में पाप बढ़ जाएगा और संसार में संतुलन स्थापित करना मुश्किल हो जाएगा. इंसान सब सात्विक गुणों को छोड़कर तामसिक गुणों और नकारात्मकता की तरफ आकर्षित होगा. आइए जानते हैं नारद मुनि ने क्या बताया है.नारद पुराण में लिखा है कि कलियुग का चरमकाल आने पर बुरे लोग समाज में अच्छे लोगों का तिरस्कार करेंगे और मजाक उड़ाएंगे. लोग केवल अधर्म का साथ देंगे. इस समय लोगों में प्रेम, दया, करुणा और विश्वास की भावना खत्म हो जाएगी कलियुग में विद्यार्थी अपने शिक्षक का सम्मान नहीं करेंगे. सामान्य लोगों के बीच नैतिकता और शिक्षा का महत्व खत्म हो जाएगा. पैसा कमाने के लिए लोग गलत रास्ता अपनाने में भी नहीं हिचकिचाएंगे.