आज रोहिणी नक्षत्र में आ रहे सूर्य, अब 9 दिन पड़ेगी झुलसा देने वाली गर्मी

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- नौतपा 25 मई यानी आज से शुरू हो रहा है। ऐसे में अगले नौ दिन सूर्य और धरती के बीच की दूरी सबसे कम होगी। इस दौरान लोगों को उमस भरी तीखी गर्मी का सामना करना पड़ेगा। उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान के संस्कृत साहित्याचार्य महेन्द्र कुमार पाठक ने बताया कि ज्येष्ठ महीना सोमवार 17 जून तक रहेगा। इस दौरान नौ दिन सबसे ज्यादा तपिश वाले होते हैं। इन्हें नौतपा कहा जाता है। इस साल यह 25 मई से शुरू होगा।

ये दिन कहलाते हैं नौतपा
इस दिन सूर्य रोहिणी नक्षत्र में रात 12:52 में प्रवेश करेगा और 8 जून की रात 12:11 बजे तक रहेगा, लेकिन नौतपा 25 मई से 3 जून तक ही रहेंगे। रोहिणी नक्षत्र की दृष्टि साल में एक बार सूर्य पर पड़ती है। यह नक्षत्र 15 दिन रहता है, लेकिन शुरू के पहले चंद्रमा जिन 9 नक्षत्रों पर रहता है वह दिन नौतपा कहलाते हैं। इस दौरान सूर्य, मंगल, बुध का शनि से समसप्तक योग होने से धरती के तापमान में इजाफा होगा।

तूफान के मिल रहे हैं संकेत
नौतपा के दौरान धरती जितनी ज्यादा तपेगी, आने वाली समय में बारिश के योग उतने ही अच्छे मिलेंगे। यानी शास्त्रों में नौतपा की तपीश से बारिश का अनुमान लगाया जाता है। हालांकि इस दौरान कुछ जगहों पर आंधी, लू और तूफान आने के भी संकेत मिल रहे हैं। नौतपा के बाद अच्छी बारिश होगी, जिससे धरती फिर हरी-भरी हो जाएगी।

इनका दान करना कल्याणकारी
रोहिणी नक्षत्र को वृषभ राशि का मस्तक कहा गया है। इस नक्षत्र में तारों की संख्या पांच है। साथ ही इस दौरान चार ग्रहों का नक्षत्र परिवर्तन भी होगा। इस दौरान शीतलदायक वस्तुओं का दान कल्याणकारी रहता है। सुबह स्नान-पूजन करने के बाद सत्तू, घड़ा, सुराही, पंखा और छाता आदि का दान करना चाहिए। इसमें आटे से भगवान ब्रह्मा की मूरत बनाकर पूजा की जाती है।

मौसम वैज्ञानिकों ने भी जताए आसार
मौसम वैज्ञानिकों ने भी अगले कुछ दिन भीषण गर्मी के आसार जताए हैं। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि अगले दो दिन शहर में लू चलने और तापमान में दो से तीन डिग्री बढ़ोतरी का अनुमान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here