आंध्रप्रदेश : जगन मोहन चलाएंगे हथौड़ा, नायडू के पांच करोड़ के बंगला पर…..

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :-
  • ये है नायडू का पांच करोड़ का बंगला जिस पर जगन मोहन चलाएंगे हथौड़ा

    आंध्र प्रदे में सत्ता बदलते ही पूर्व सीएम और तेलुगू देशम पार्टी के मुखिया चंद्र बाबू नायडू की मुश्किलें बढ़ गई हैं. राज्य के नए सीएम वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने चंद्रबाबू के आलीशान घर ‘प्रजा वेदिका’ बिल्डिंग को तोड़ने का आदेश दिया है. मंगलवार से बिल्डिंग तोड़ने का काम शुरू हो जाएगा जबकि चंद्र बाबू नायडू फिलहाल, ‘प्रजा वेदिका’ में ही रहते हैं. बता दें कि चंद्रबाबू नायडू को नई सरकार के इस कार्रवाई का अंदाजा पहले ही हो गया था इसलिए बीते दिनों नायडू की पार्टी की तरफ से मुख्यमंत्री रेड्डी को चिट्ठी लिखकर ‘प्रजा वेदिका’ को नेता प्रतिपक्ष का सरकारी आवास घोषित करने की मांग की थी लेकिन राज्य सरकार ने इससे इनकार कर दिया. बीते शनिवार को ही वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की सरकार ने  एन. चंद्रबाबू नायडू के अमरावती स्थित आवास प्रजा वेदिका को अपने कब्जे में ले लिया था. राज्य सरकार के एक्शन से बौखलाई तेलुगू देशम पार्टी ने इसे बदले की कार्रवाई करार दिया. विपक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री के प्रति कोई सद्भावना नहीं दिखाई, क्योंकि उनके सामानों को अमरावती के उंदावल्ली घर के बाहर फेंक दिया गया. आंध्र प्रदेश के पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू तब से कृष्णा नदी के किनारे उंदावल्ली स्थित इस आवास में रह रहे थे, जब से आंध्र प्रदेश ने अपना प्रशासन हैदराबाद से अमरावती शिफ्ट किया था. हैदाबाद अब तेलंगाना की राजधानी बन गया है. प्रजा वेदिका का निर्माण सरकार ने आंध्र प्रदेश राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एपीसीआरडीए) के जरिए तत्कालीन मुख्यमंत्री आवास के रूप में किया था.  पांच करोड़ रुपये की लागत से बने इस आवास का इस्तेमाल नायडू आधिकारिक कार्यों के साथ ही पार्टी की बैठकों के लिए करते थे. नायडू ने इस महीने के शुरू में मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी को पत्र लिखकर इस ढांचे का उपयोग बैठकों के लिए करने देने की इजाजत मांगी थी लेकिन सरकार ने प्रजा वेदिका को कब्जे में लेने का शुक्रवार निर्णय लिया और घोषणा की कि कलेक्टरों का सम्मेलन वहां होगा. नायडू इस समय परिवार के सदस्यों के साथ विदेश में छुट्टियां मना रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here