अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप महिला सांसदों पर ‘नस्लीय’ टिप्पणी करने को लेकर विवादों में घिरे

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डेमोक्रेटिक पार्टी की महिला सांसदों पर हमला करते हुए कहा कि वे जहां से आई हैं वहीं ‘वापस चली जाएं’ट्रंप की इस टिप्पणी को लेकर विवाद पैदा हो गया है. डेमोक्रेटिक कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने राष्ट्रपति के इस बयान पर कड़ा विरोध जताया है. उन्होंने इसे राष्ट्रपति की ‘नस्लीय’ टिप्पणी कहा है.डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को अपने ट्विटर पर महिला डेमोक्रेटिक सांसदों का हवाला देते हुए अलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कॉर्टेज़, रशीदा तलीब और अयान प्रेसली पर टिप्पणी की. उन्होंने हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी को इन महिलाओं का सरदार बताया. ट्रंप ने कहा, “प्रगतिशील डेमोक्रेट सांसदों को इस तरह देखना दिलचस्प है, जो मूल रूप से उन देशों से आई हैं जिनकी सरकारें पूरी तरह से भ्रष्टाचार से घिरी हैं. ये दुनिया में कहीं भी सबसे खराब, सबसे भ्रष्ट और अयोग्य हैं.”

डेमोक्रेटिक सांसदों  जताई नाराजगी
सीएनएन के अनुसार, डेमोक्रेट्स अलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कोर्टेज, रशीदा तलीब, इल्हान उमर और अयान प्रेसली ने ट्रंप के इस बयान पर कड़ी नाराजगी जताई है. अन्य महिला प्रतिनिधियों ने राष्ट्रपति की आलोचना की है. ट्रंप ने पिछले साल अफ्रीका के देशों को ‘गटर’ बताते हुए कहा था कि वे अमेरिका में शरणार्थी ‘हमला’ करेंगे.

हाउस स्पीकर ने किया पलटवार
हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कहा, “जब डोनाल्ड ट्रंप 4 अमेरिकी कांग्रेस महिलाओं को अपने देश वापस जाने के लिए कहते हैं तो इससे उनके ‘मेक अमेरिका ग्रेट अगेन’ की योजना साफ हो जाती है. वह हमेशा अमेरिका को ‘व्हाइट’ बनाना चाहते हैं. हमारी विविधता हमारी ताकत है.”