अमित शाह के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने 2 FIR दर्ज की

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-  लोकसभा चुनाव 2019  के सातवें और अंतिम चरण में पश्चिम बंगाल की 9 सीटों पर मतदान होना है. अभी तक राज्य में हुए 6 चरणों के मतदान के दौरान बीजेपी और राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के बीच लगातार हिंसक संघर्ष देखने को मिला है. मंगलवार को कोलकाता में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान भी टीएमसी और बीजेपी समर्थकों के बीच हिंसक झड़प हुई. बीजेपी का कहना है कि इस हिंसा में पार्टी के 100 से ज्यादा कार्यकर्ता घायल हुए हैं. बीजेपी का कहना है कि रोड शो के दौरान टीएमसी की छात्र ईकाई ने यह हमला करवाया है.

बुधवार को कोलकाता पुलिस ने अमित शाह के खिलाफ 2 एफआईआर दर्ज की है. जोड़ासांको और एमहर्स्ट स्ट्रीट थाने में यह एफआईआर दर्ज की गई है. ऐसा बताया जा रहा है कि यह दोनों एफाआईआर टीएमसी की छात्र ईकाई की शिकायत पर दर्ज की गई है.वहीं टीएमसी का आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने समाजसेवी और दार्शनिक ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी है. शिकायत करने के लिए चुनाव आयोग से मुलाकात का समय मांगा है.  वहीं बीजेपी ने अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा के खिलाफ आज दिल्ली के जंतर मंतर पर विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह इस मुद्दे पर सुबह 11 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. खबर यह भी है कि सीएम ममता बनर्जी आज कोलकाता में रैली निकलेंगी.

पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेता रूपा गांगुली ने कहा है कि विद्यासागर कॉलेज के अंदर से रोड शो पर ईंट किसने फेंकी?

शाह के रोडशो में हिंसा के बाद चुनाव आयोग से मुलाकात का समय मांगा
तृणमूल कांग्रेस () ने बीजेपी एवं उसके कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़पों के दौरान बांग्ला लेखक एवं दार्शनिक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा गिराने के मुद्दे पर चुनाव आयोग से मुलाकात का समय मांगा है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के विशाल रोड शो के दौरान पार्टी एवं तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच कोलकाता की सड़कों पर जबर्दस्त झड़प हो गई थी. हालांकि शाह को किसी तरह की चोट नहीं आई और पुलिस उन्हें सुरक्षित स्थान तक ले गई.

ट्वीट किया, “डेरेक ओब्रायन, सुखेंदु शेखर राय, मनीष गुप्ता, नदीमुल हक वाली तृणमूल संसदीय टीम कोलकाता में शाह के रोड शो के बाद बंगाल की संपदा पर हुए हमले को लेकर चुनाव आयोग से मुलाकात करना चाहती है. बीजेपी के बाहरी गुंडों ने आगजनी की और विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा को तोड़ दिया.”