अधिकारियों और व्यापारियों के बीच फेविकोल जैसे लूट का अटूट रिश्ता,शासन को लगा झटका

Hits: 17

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :-   बिलासपुर—छत्तीसगढ़ स्टेट इन्डस्ट्रीज डेवलपमेन्ट कार्पोरेशन यानि सीएसआईडीसी अधिकारियों की लंगड़ी चाल आम जनता की समझ से परे है। अधिकारियों और व्यापारियों के बीच फेविकोल जैसे लूट का अटूट रिश्ता है। शासन को फटका लगे तो लगे..लेकिन अधिकारियों का हर दिन दीवाली और हर दिन दशहरा है। नाक के नीचे नियम कायदों की धज्जियां उड़ायी जा रही है। जाहिर सी बात है कि लाखों करोड़ो के झोलझाल में अधिकारियों का हित होेने से इंकार नहीं किया जा सकता है।को बढ़ावा देने सैकड़ों-हजारों एकड़ जमीन को कब्जे में लेकर सीएसआईडीसी के हवाले किया है। शासन की तरफ से तिफरा और सिरगिट्टी क्षेत्र में मामूली कीमत पर जमीन देकर उद्योपतियों को व्यापार के लिए उत्साहित किया जा रहा है। लेकिन कई ऐसे उदाहरण हैं जहां सीएसआईडीसी के अधिकारी बेरोजगारों और शासन की हित से कहीं ज्यादा अपने हित को तवज्जों देने से बाज नहीं आ रहे हैं।                                            सीएसआईडीसी कार्यालय से चन्द कदम दूर पेट्रोल पम्प के सामने संतोषा टाइल्स फर्म का संचालन किया जा रहा है। फर्म से रोजाना लाखों रुपए का व्यापार होता है। प्रदेश के कोने कोने में देशी विदेशी टाइल्स की सप्लाई होती है। मजेदार बात है कि जिस जगह से टाइल्स फर्म का संचालन किया जा रहा है। जमीन गीता इऩ्डस्ट्रीज को लीज पर दी गयी है। कम्पनी कोल ब्रेकेट्स बनाने का काम करती थी। आजकल उसी जमीन से सीएएसआईडीसी के बिना जानकारी में टाइल्स फर्म का संचालन किया जा रहा है। फर्म संचालक के अनुसार सीएसआईडीसी से अनुमति से फर्म का संचालन हो रहा है। लेकिन सीएसआईडीसी अधिकारी जानकारी होने से इंकार कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here