अगर आप भी कंप्यूटर के सामने बैठते हैं लगातार 8 घंटे तो करें ये काम

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- आजकल लोग अपना ज्यादातर काम कंप्यूटर पर ही करते हैं। लंबे समय तक कंप्यूटर स्क्रीन के सामने काम करने से आंखों में परेशानी जैसे आंखों में जलन, खुजली, आंख से पानी आना जैसी समस्याएं होने लगती हैं। इतना ही नहीं, इसके कारण धुंधला दिखाई जैसी परेशानी भी देखने को मिलती हैं। शोध के अनुसार, आज के समय में लगभग 50% से 90% इस समस्या से परेशान है, जिसका कारण कंप्यूटर स्क्रीन ही है। ऐसे में अगर आप भी 8 घंटे से ज्यादा कंप्यूटर के सामने बैठे रहते हैं तो सावधानियां बरतें, ताकि आपकी आंखें सुरक्षित रहें। चलिए आपको बताते हैं कंप्यूटर के सामने काम करते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

ग्रीन टी पैक

लगातार आंखों के सामने बैठकर काम करने से पफी आईस व डार्क सर्कल्स की समस्या देखने को मिलती हैं। साथ ही इसके कारण नींद ना आने की परेशानी भी हो सकती हैं। ऐसे में आप रात को सोने से पहले ग्रीन टी को पानी में डीप करके आंखों पर रखें। इससे आंखें रिलैक्स होंगी आपकी दोनों परेशानियां दूर हो जाएंगी।

ब्रेक लें

ज्‍यादा लम्‍बे समय तक स्‍क्रीन के सामने बैठकर काम करने से सिर्फ आंखों पर ही बुरा असर नहीं पड़ता बल्कि इससे तनाव भी हो सकता है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप बीच-बीच में ब्रेक लेते रहें। काम से ब्रेक लेकर बाहर घूमने जाएं और फिर फ्रेश मूड़ में बैठकर काम करें।

आई लेवल करें एडजस्‍ट

कंप्यूटर पर काम करते हुए स्‍क्रीन को अपनी आंखों की सीध में ही रखें। ज्‍यादा ऊंची या नीची रखने से आखों को दिक्‍कत होती है और इससे आंखों की रोशनी पर असर पड़ता है।

प्रॉपर लाइट में बैठे

अक्सर सुनने में आता है कि कम रोशनी से आंखों पर दबाब पड़ता है लेकिन जरूरत से अधिक रोशनी भी आंखों को नुकसान पहुंचाती है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप कमरे की रोशनी का लेवल सही रखें। साथ ही इस बात का भी ख्याल रखें कि आपके काम करने वाली जगह में रोशनी सफेद रंग की हो।

पलकें झपकाना बढ़ा दें

अक्सर लोग कंप्यूटर के सामने काम करते हुए एकटक देखते रहते हैं जबकि ऐसा करना बिल्कुल गलत है। ऐसे में अगर आप अपनी आंखों को सुरक्षित रखना चाहते हैं तो पलकें ज्यादा झपकाएं। इससे आंखों में नमी उतरती है और आंखें ड्राई भी नहीं होती, जिससे आप कई परेशानियों से बचे रहते हैं।

आंखों की एक्ससाइज

कंप्यूटर पर लगातार काम ना करें बल्कि हर 20 मिनट बाद अपनी नजरें हटाएं और किसी ऐसी चीज को देखें जो 20 फीट की दूरी पर हो। यह आंखों के लिए एक किस्म की एक्ससाइज है। इसके अलावा आप आंखों को बंद करके ध्यान भी लगा सकते हैं, ताकि आईस और दिमाग दोनों रिलैक्स हो सकें।

चश्मों का इस्तेमाल

मार्कीट में ऐसे चश्में मौजूद है, जिससे कंप्यूटर के सामने बैठकर भी आंखों को खराब होने से बचाया जा सकता है। जिन्हें चश्मा नहीं लगा वह इन चश्मों की मदद से अपनी आंखों का बचाव कर सकते हैं।

ब्राइटनेस कम करें

जब आप कम्‍प्‍ूयटर पर काम कर रहे हों तो स्‍क्रीन की ब्राइटनेस कम कर लें। ब्राइटनेस को आंखों के हिसाब से रखें ताकि आंखों पर ज्‍यादा तीखी रोशनी न पड़ें।

हैल्दी डाइट लें

अपनी डाइट में जंक फूड्स और ऑयली फूड्स की बजाएं हैल्दी चीजों को शामिल करें। भीगे हुए बादाम, अंकुरित अनाज, हरी सब्जियां, मछली, फल, 8-9 गिलास पानी, गाजर, बीन्स, ऑयुर्वेदिक हर्ब्स, मांस, बेरिज, अंडा, नट्स आदि का सेवन आंखों की रोशनी बढ़ाने का काम करता हैं। साथ ही इससे आप कंप्यूटर से होने वाले नुकसान भी बचे रहते हैं।

व्यायाम और योग

रोजाना व्यायाम, योग और मेडिटेशन करके भी आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद मिलती है। इसके लिए आप अनुलोम विलोम, सर्वांगासन और त्राटकासन को अपनी रूटीन का हिस्सा बना सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here