Top
भारत

नगर निगम अधिकारी की गुंडागर्दी...नशे में धुत अफसर ने दो युवकों पर चढ़ाई कार...नगरी प्रशासन मंत्री ने दिए जांच के आदेश

Rounak
24 Feb 2021 1:19 AM GMT
नगर निगम अधिकारी की गुंडागर्दी...नशे में धुत अफसर ने दो युवकों पर चढ़ाई कार...नगरी प्रशासन मंत्री ने दिए जांच के आदेश
x

फाइल फोटो 

बड़ी खबर

भोपाल. मध्‍य प्रदेश की राजधानी भोपाल में नगर निगम (Bhopal Municipal Corporation) के अतिक्रमण अधिकारी कमर शाकिब की गुंडागर्दी का मामला सामने आया है. आरोप है कि नशे में धुत कमर शाकिब ने न सिर्फ अपनी सरकारी गाड़ी से दो लोगों को टक्कर मारी दी बल्कि इसके बाद विरोध होने पर उन्होंने अपनी पिस्टल निकालकर धमकाया और मारपीट भी की. यही नहीं, पुलिस ने नगर निगम अतिक्रमण अधिकारी के खिलाफ एक्‍शन लेने के बजाय उलटा फरियादी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की. इस मामले में अब नगरी प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह (Bhupendra Singh) ने जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही एडिशनल एसपी राम सनेही मिश्रा ने मामले की जांच भी शुरू कर दी है.

घटना नादरा बस स्टैंड की है. टीकमगढ़ में रहने वाले विजय और राहुल अपने परिवार के साथ बस स्टैंड पर खड़े थे. इसी दौरान कमर शाकिब अपनी सरकारी गाड़ी से वहां पहुंचा. वह शराब के नशे में बताया जा रहा था. उसने राहुल और विजय पर गाड़ी चढ़ा दी. जब उन्होंने इस बात का विरोध किया तो कमर शाकिब ने न सिर्फ अपने रुतबे की धौंस दिखाई बल्कि उसने गाली गलौज की और परिवार के साथ मारपीट भी कर डाली.
सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो
फरियादी ने मौके पर कमर साकिब का एक वीडियो भी बनाया है. इस वीडियो में कमर परिवार को धमकाता नजर आ रहा है. आरोप है कि इस दौरान उसने राहुल और विजय को पिस्टल भी दिखाई थी. उसने उनको गिरफ्तार करने की करवाने की धमकी भी दी थी. लगातार आरोपी गाड़ी में बैठ कर पुलिस अधिकारियों को फोन लगाता हुआ नजर भी आ रहा है. जब दोनों पक्ष हनुमानगंज थाने पहुंचे तो पुलिस ने कमर शाकिब का मेडिकल नहीं कराया. जबकि बताया जा रहा है कि उसने शराब पी रखी थी. पुलिस ने उलटा फरियादी पर ही एफआईआर दर्ज कर ली. इतना ही नहीं परिवार को पुलिस ने डराया भी और समझौता करने के लिए दबाव भी बनाया.
मंत्रियों ने मामले में लिए एक्शन
कमर शाकिब के मामले में मंत्री भूपेंद्र सिंह ने जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा कि जांच के बाद मामले में कार्यवाही होगी. वहीं, एक और मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि यह गंभीर मामला है. मैंने अधिकारियों से बात की है. मामले की जांच करें जो दोषी है, उनके खिलाफ कार्यवाई हो. दोनों तरफ से एफआईआर होनी चाहिए.
पुलिस ने कही जांच की बात
नगर निगम अतिक्रमण अधिकारी कमर शाकिब के मामले में एडिशनल एसपी राम रामसनेही मिश्रा ने कहा कि प्राथमिक तौर पर जो बात सामने आई थी. उसी के अनुसार एफआईआर दर्ज की गई है. अब इस पूरे मामले की जांच की जा रही है. यदि कार ने टक्कर मारी है और मारपीट हुई है तो शाकिब के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it