Top
उत्तर प्रदेश

हाथरस:दम तोड़ने से पहले पीड़िता के आखिरी शब्द ,कर रहे UP पुलिस को बेनकाब

Mohit
2 Oct 2020 5:01 AM GMT
हाथरस:दम तोड़ने से पहले पीड़िता के आखिरी शब्द ,कर रहे UP पुलिस को बेनकाब
x

हाथरस:दम तोड़ने से पहले पीड़िता के आखिरी शब्द ,कर रहे UP पुलिस को बेनकाब

दम तोड़ने से पहले पीड़िता ने खुद बयान दिया कि उसके साथ रेप हुआ। यह बयान उत्तर प्रदेश

जनता से रिश्ता वेबडेस्क |हाथरस 'एक महीना पहले भी मेरा रेप करने की कोशिश की। तब मैं बच गई। रवि (आरोपी) फोन पर कह रहा था, कुछ हुआ नहीं। तब भाग गया था। उस दिन रेप हुआ। वही दोनों थे। बाकी सब मम्मी को देखकर भाग गए थे। थोड़ा होश था। मम्मी ने मुंह में पानी डाला पूछा क्या हुआ? रेप हुआ...।'ये शब्द हैं हाथरस गैंगरेप पीड़िता के।

दम तोड़ने से पहले पीड़िता ने खुद बयान दिया कि उसके साथ रेप हुआ। यह बयान उत्तर प्रदेश पुलिस के दावों की पोल खोल रहा है। आपको बता दें कि इस मामले में चार आरोपी संदीप, लवकुश, रामू और रवि गिरफ्तार किए गए हैं।

दरिंदगी के दौरान टूट गई रीढ़ की हड्डी

घटना 14 सितंबर की है। बच्ची अपनी मां और भाई के साथ खेतों में चारा काटने गई थी। यहां पर छोटा भाई चारा लेकर घर आ गया। मां और बेटी चारा काट रही थीं। बेटी मां से कुछ फासले पर थी। पीछे से आरोपियों ने उसके गले में पड़ा दुपट्टा कसा और खींचकर घने खेतों के बीच ले गए। यहां पर उसके साथ रेप किया। उसके साथ जबरदस्ती के दौरान इतना पटका कि उसकी रीढ़ की हड्डी टूट गई।


मां को बताया जबरदस्ती की, और....

गले से बेटी के आवाज न निकल सके इसलिए दुपट्टा गले में कसते गए। इधर बेटी के नजर आ आने पर मां आवाज लगाते हुए वहां पहुंची तो सारे आरोपी भाग निकले। बेसुध बेटी को देखकर मां घबरा गई। बेटी के मुंह में पानी के छींटे मारे और उससे पूछा क्या हुआ? बेटी को थोड़ा होश था और उसने कहा जबरदस्ती की....और वह बेहोश हो गई।


9 दिन बाद आया होश तो बयां की हैवानियत की दास्तां

बदहवास मां गांव की तरफ दौड़ी मदद के लिए चिल्लाई। घरवाले और गांव के और लोग आए। बेटी को लेकर जिला अस्पताल गए। वहां हालत गंभीर होने पर अलीगढ़ रेफर कर दिया गया। अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज में उसे 9 दिन बाद होश आया। 9 दिन बाद होश में आने के बाद उसने अपने साथ हुई हैवानियत की दास्तां बयां की।

पहले पुलिस ने मामूली छेड़खानी की धाराओं में ही दर्ज किया केस

इधर पुलिस ने पहले छेड़खानी की धाराओं में केस दर्ज किया। लड़की के बयान पर धाराएं बढ़ाईं। इस दौरान पुलिस ने इस बात से इनकार नहीं किया कि बेटी के साथ रेप नहीं हुआ। बेटी को अलीगढ़ से एम्स के लिए रेफर किया गया। उसे दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती कराया गया। दिल्ली ले जाते समय उसके बयान का एक वीडियो बनाया गया। इस वीडियो में वह साफ कह रही है कि उसके साथ रेप हुआ।


पुलिस पर उठ रहे सवाल

बेटी की मौत के बाद पुलिस ने कहा कि मेडिकल रिपोर्ट में उसके साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस के इस बयान पर विवाद हुआ तो पुलिस ने फिर बयान बदला और कहा कि बेटी के साथ जबरन सेक्सुअल इंटरकोर्स नहीं हुआ है। पुलिस के इस बयान पर फिर से बवाल हो रहा है। हालांकि रेप पीड़िता के बयान पुलिस के दावों की पोल खोल रहे हैं।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it