Top
उत्तर प्रदेश

हाथरस गैंगरेप और हत्या: अब सुप्रीम कोर्ट में PIL दाखिल, केस यूपी से दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग

Kunti
30 Sep 2020 2:59 PM GMT
हाथरस गैंगरेप और हत्या: अब सुप्रीम कोर्ट में PIL दाखिल, केस यूपी से दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग
x
हाथरस गैंगरेप और हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई है. जनहित याचिका में पूरे मामले की सीबीआई से जांच

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | हाथरस गैंगरेप और हत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की गई है. जनहित याचिका में पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की गई है. साथ ही केस का ट्रायल उत्तर प्रदेश से दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की गई है.

हाथरस गैंगरेप केस में एस दुबे ने जनहित याचिका दाखिल की है. याचिका में देश की सबसे बड़ी अदालत में केस को उत्तर प्रदेश से दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की गई है. मामले पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मामले की जांच सीबीआई या एसआईटी से कराए जाने की मांग की गई है. सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग या रिटायर जज के नेतृत्व में एसआईटी के गठन की मांग की गई है.

दूसरी ओर, हाथरस केस में जांच के लिए एसआईटी टीम का गठन हो गया है. सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद गृह सचिव भगवान स्वरूप की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एसआईटी टीम मामले की जांच करेगी. एसआईटी टीम में दलित और महिला अधिकारी भी शामिल हैं.

गृह सचिव भगवान स्वरूप, डीआईजी चंद्र प्रकाश और सेनानायक पीएसी आगरा पूनम भी एसआईटी के सदस्य होंगे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में लाने के निर्देश दिए हैं. इस मामले में सभी चारों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है.

सीएम ने की पीड़िता के परिवार से बात

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़िता के परिवार से बात की है. सीएम योगी ने वीडियो कॉल के जरिए पीड़िता के परिवार से बात की. पीड़िता के पिता ने मुख्यमंत्री से आरोपियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की मांग की. मुख्यमंत्री ने पीड़िता के पिता से बात करते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भरोसा दिया और प्रशासन को हर संभव मदद के निर्देश दिए.

इस समय हाथरस केस को लेकर सियासत गरमाई हुई है. हाथरस गैंगरेप मामले पर कांग्रेस समेत विपक्ष के कई नेता योगी सरकार पर लगातार निशाना साध रहे हैं. कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से तीखे सवाल पूछे हैं. उन्होंने मृतक पीड़िता के दाह संस्कार को लेकर यूपी सरकार को घेरा है. प्रियंका ने एक वीडियो जारी करके राज्य सरकार से सवाल किए हैं.

प्रियंका गांधी ने पूछा कि परिजनों से जबरदस्ती छीनकर पीड़िता के शव को जलवा देने का आदेश किसने दिया? पिछले 14 दिन से कहां सोए हुए थे आप? क्यों हरकत में नहीं आए? और कब तक चलेगा ये सब? कैसे मुख्यमंत्री हैं आप?

जारी वीडियो में प्रियंका गांधी ने कहा कि ये हादसा 14 तारीख को हुआ और आज 30 तारीख है. आज पहली बार मुख्यमंत्री योगी ने इस हादसे पर जवाब दिया. इस लड़की के साथ इतनी हैवानियत हुई और 15 दिन बाद अब मुख्यमंत्री का बयान आया है.

क्या है मामला

यूपी के हाथरस जिले के चंदपा थाने के गांव में 14 सितंबर को दलित लड़की के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया. इसके साथ ही उस पर जानलेवा हमला किया गया. पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि सुबह साढ़े नौ बजे के करीब चार दबंगों ने दलित लड़की के साथ गैंगरेप और दरिंदगी की. घटना के 9 दिन बाद लड़की जब होश में आई तो उसने इशारों से अपना दर्द बयान किया.

पीड़िता को इलाज के लिए पहले अलीगढ़ भेजा गया लेकिन हालात बिगड़ने पर उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भेजा गया. लेकिन पीड़िता को बचाया नहीं जा सका और मंगलवार सुबह उसने दम तोड़ दिया. इसके बाद पूरे देश में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया.

सफदरजंग अस्पताल में मौत के बाद पुलिस शव को लेकर हाथरस पहुंची. उस वक्त रात के करीब 12.45 हो रहे थे. एंबुलेंस के पहुंचते ही लोगों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. नाराज ग्रामीण सड़क पर ही लेट गए. एसपी-डीएम लड़की के बेबस पिता को अंतिम संस्कार के लिए समझाते रहे जब वो नहीं माने तो जबरन उसका अंतिम संस्कार कर दिया.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it