राजस्थान

अपनी भैंस की खातिर तेंदुए से भिड़ गया बालक, घायल होने के बाद भी लड़ता रहा

Nidhi Singh
25 Oct 2021 5:03 AM GMT
अपनी भैंस की खातिर तेंदुए से भिड़ गया बालक, घायल होने के बाद भी लड़ता रहा
x
अपनी भैंस को बचाने के लिए दिनेश तेंदुए से लड़ने के लिए मैदान में उतर गया. जिसके बाद तेंदुए ने भैंस को छोड़ दिया, लेकिन वो दिनेश को नोचने लगा.

कहते हैं बच्चे को अगर किसी जानवर से लगाव हो तो वो उसकी रक्षा के लिए फिर किसी से भी लड़ जाता है. चाहे उसके सामने तेंदुआ ही क्यों ना हो. राजस्थान के कुंभलगढ़ (Kumbhalgarh, Rajasthan) के मजेरा गांव में एक 16 साल का लड़का अपनी भैंस को बचाने के लिए तेंदुए (leopard) से भिड़ गया. इस भिंडत के दौरान लड़के को तेंदुए ने कई जगह नाखून से घायल भी किया. जिस कारण वो जख्मी हो गया, लेकिन इसके बाद भी वो नहीं रुका और लड़ता रहा. जिसके बाद लड़के की आवाज सुनकर आस-पास के लोग वहां पहुंच गए और भीड़ देखकर तेंदुआ भाग गया.

मजेरा गांव के पास चित्तौड़ा निवासी दिनेश पुत्र मोहनराम शनिवार को भैंस को चराने जंगल की तरफ गया था. इस दौरान अचानक एक तेंदुआ वहां आ गया और भैंस पर हमला कर दिया. अपनी भैंस को बचाने के लिए दिनेश तेंदुए से लड़ने के लिए मैदान में उतर गया. जिसके बाद तेंदुए ने भैंस को छोड़ दिया, लेकिन वो दिनेश को नोचने लगा. तेंदुए ने बच्चे की कमर और पैर को नाखूनों से नोंच दिया है.
ग्रामीणों ने की पिंजरा लगवाने की मांग
इस इलाके में तेंदुए का आंतक बढ़ता ही जा रहा है. ग्रामीण तेंदुए के आतंक से इतना परेशान हैं कि उन्होने इलाके में पिंजरा लगाने की मांग की है. वन विभाग के रेंजर किशोर सिंह ने कहा कि कुंभलगढ़ वन्यजीव अभयारण्य हैं. अभ्यारण में 200 से अधिक तेंदुए रहते हैं. सरकार इसे टाइगर रिजर्व बनाने का प्रयास कर रही है.
2 तेंदुओं की मौत
उदयपुर और सिरोही में दो तेंदुओं की मौत हो गई है. एक तेंदुआ शिकार के लिए ट्रांसफार्मर पर चढ़ा और करंट की चपेट में आ गया, जबकि दूसरे तेदुएं की मौत कुएं में गिरने के कारण हुई है. उदयपुर के पास रेबारियों की ढाणी में ट्रांसफार्मर पर बैठे मोर का शिकार करने के लिए जैसे ही तेंदुए ने छलांग लगाई और ट्रांसफार्मर तक पहुंचा तो वो करंट की चपेट में आ गया. उसका शव ट्रांसफार्मर पर मिला. जिसके बाद ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचित किया. करंट से मरा तेंदुआ चार साल की मादा थी.
वहीं सिरोही जिले के सारंगवास गांव में एक तेंदुए की मौत कुएं में डूबने से हो गई. तेंदुए को ग्रामीणों ने 130 फीट गहरे कुएं में देखा था. जो कुएं में लटकी पानी की मोटर पर बैठा था. गांव वालों ने इस मोटर को बाहर खींचकर उसे बचाने का प्रयास किया, लेकिन तेंदुए ने कुएं से बाहर निकलने के लिए जैसे ही छलांग लगाई तो वह कुएं में जा गिरा. और कुछ ही देर में उसकी मौत हो गई.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it