Top
State

अब महासमुंद, आरंग और ओडिशा जाने वालों को देना होगा डबल टोल

Subhi
17 Jan 2021 6:18 PM GMT
अब महासमुंद, आरंग और ओडिशा जाने वालों को देना होगा डबल टोल
x
अब महासमुंद, आरंग और ओडिशा जाने वालों को देना होगा डबल टोल, इतनी होगी वसूली

हाईवे पर घूमने के शौकीन और लगातार ट्रेवल करने वालों को अब ज्यादा जेब कुछ ज्यादा ढीली करनी होगी. दरअसल, रायपुर से महासमुंद, आरंग और ओडिशा जाने वाले अब शहर से महज 12 किमी तथा नवा रायपुर से लगे मंदिरहसौद से पहले ही टोल टैक्स देंगे. प्रशासन ने कार के लिए टैक्स 50 रुपए और बस-ट्रक के लिए 180 रुपए तय किया है, जो दोगुना है. इसकी वजह यह है कि यहां से करीब 25 किमी दूर स्थित रसनी टोल नाके को इस नाके के शुरू होते ही बंद कर दिया जाएगा, क्योंकि दो नाकों के बीच में 60 किमी का अंतर होना चाहिए.

जानकारी के मुताबिक, मंदिरहसौद नाका फरवरी के पहले हफ्ते में ही शुरू हो जाएगा और इसके शुरू होते ही रसनी नाके में टोल वसूली बंद कर दी जाएगी. इसलिए रसनी नाका बंद कर वहां का टोल भी मंदिरहसौद के टोल टैक्स में जोड़ा जा रहा है. मंदिरहसौद में शुरू होने वाला टोल नाका यहां से लगभग 15 किमी पहले पहले रिंगरोड-1 पर रायपुर शहर की सीमा के भीतर सुंदरनगर से लगकर 2016 में बना था. इसे विरोध के चलते बंद करना पड़ा.

इसलिए यहां बनाया गया नया टोल

सुंदरनगर नाको को शहर सीमा के बाहर ले जाने पर सहमति बनी. इसीलिए मंदिरहसौद का चयन किया गया. यह भले ही नवा रायपुर से लगा है, लेकिन तकनीकी तौर पर मौजूदा राजधानी की सीमा से बाहर है. सुंदरनगर और रसनी नाके एक साथ बने थे. रसनी टोल नाका तब से चल रहा है. चूंकि मंदिरहसौद से रसनी की दूरी महज 14 किमी है, इसलिए वहां का नाका बंद करके उसका टैक्स यहीं मर्ज करने का फैसला लिया गया, ताकि लोगों को बार-बार टोल टैक्स के लिए नहीं रुकना पड़े. टोल टैक्स वसूली का यह नया सिस्टम बना लिया गया है. राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) और सड़क निर्माण कंपनी एक्सप्रेस-वे के अफसरों ने बताया कि इस नई व्यवस्था पर सहमति भी बन गई है.

हर वक्त लगा रहेगा जाम

जीई रोड पर मंदिरहसौद से पहले बने टोल प्लाजा में रोज जाम का खतरा हो सकता है. वजह ये है कि रायपुर से जाने पर इस नाके से ठीक पहले रायपुर रिंग रोड-3 का तिराहा है. नाके से बमुश्किल आधा किमी आगे मंदिरहसौद का बेहद व्यस्त चौराहा है. एक रेलवे क्रासिंग तथा रेलवे साइडिंग है. वहां चावल और खाद की गाड़ियां खाली की जाती हैं. ट्रैफिक पुलिस को भी इस नाके पर इन्हीं कारणों से जाम की आशंका है.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it