झारखंड

बेरमो में सीआरपीएफ जवान की मौत

Rani Sahu
27 Jun 2022 6:28 PM GMT
बेरमो में सीआरपीएफ जवान की मौत
x
सीआरपीएफ 26 बटालियन के घायल जवान राजेश कुमार 43 वर्ष की इलाज के दौरान मौत हो गई

Bermo : सीआरपीएफ 26 बटालियन के घायल जवान राजेश कुमार 43 वर्ष की इलाज के दौरान मौत हो गई. इसकी पुष्टि सीआरपीएफ के कमांडेंट केपी सिंह ने की. गोमो बरकाकाना रेलखंड अंतर्गत डुमरी और दनिया स्टेशन के बीच कांशीटांड के निकट रेलवे ट्रैक के जांच के दौरान इंजन के चपेट में जवान आ गया था. आनन फानन में उसे स्थानीय गोमिया अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां प्राथमिक इलाज के बाद चॉपर से रांची ले जाया गया. इस दौरान सीआरपीएफ बोकारो रेंज के डीआइजी डीके चौधरी और कमांडेंट केपी सिंह स्वांग हवाई अड्डा पर मुस्तैद थे. उन्होंने सीआरपीएफ के वरीय अधिकारियों से लगातार संपर्क स्थापित कर घायल जवान को अस्पताल तक ले जाने के लिए सभी व्यवस्था दुरुस्त रखने की बात कही.

इलाज के दौरान घायल जवान की हुई मौत
चॉपर को स्वांग हवाई अड्डा पहुंचने से पहले ही घायल जवान को एम्बुलेंस में ऑक्सीजन के साथ रखा गया था. गोमिया अस्पताल के प्रभारी डॉ जितेंद और अस्पताल के स्टाफ जवान के देखभाल में लगे रहे. जैसे ही चॉपर पहुंचा, पहले से ही तैनात सीआरपीएफ के जवान और अस्पताल कर्मी जल्दी से उसे चॉपर में पहुंचाया, कुछ ही पल में चॉपर उड़ान भरी और घायल जवान को लेकर रांची मेडिका अस्पताल ले जाया गया. उसके साथ कुछ जवान भी गए. रांची के अस्पताल में इलाज के दौरान घायल जवान की मौत हो गई. इस संबंध में कमांडेंट ने बताया कि मृतक जवान का सलामी के बाद उसे उनके पैतृक गांव यूपी के मिर्जापुर भेज दिया गया है. उनके माता पिता, पत्नी और तीन बच्चे हैं.
रेलवे ट्रैक जांच के दौरान हुआ हादसा
नक्सलियों द्वारा 26 जून से 2 जुलाई तक दमन विरोधी सप्ताह मनाया जा रहा है. इसी को ध्यान में रखते हुए सीआरपीएफ 26 बटालियन की ओर से सर्च अभियान चलाया जा रहा था. सोमवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे सीआरपीएफ के जवान गोमो बरकाकाना रेल खंड के डुमरी विहार और दनिया स्टेशन के बीच कांशीटांड गांव के निकट रेलवे ट्रैक की जांच कर रहे थे. दरअसल नक्सलियों द्वारा रेलवे ट्रैक को ही निशाना बनाया जाता है, लिहाजा सीआरपीएफ के जवान रेलवे ट्रैक की जांच में जुटी थी. उसी समय गोमो चोपन सवारी गाड़ी डुमरी स्टेशन से खुलने के बाद दनिया स्टेशन की ओर जा रही थी. सीआरपीएफ हवलदार राजेश कुमार सवारी गाड़ी को ध्यान में रखकर दूसरे ट्रैक की जांच में जुटा था, लेकिन उसी समय उस ट्रैक पर एक इंजन गाड़ी गुजर रही थी जिसके चपेट में वे आ गये. उनके साथ अन्य साथी जवानों ने तुरंत गोमिया अस्पताल पहुंचाया और प्राथमिक उपचार कराया. इसके बाद उसे बेहतर इलाज के लिए चॉपर से रांची भेज दिया लेकिन वहां उसकी निधन हो गई.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta