छत्तीसगढ़

बैल चोरी के संदेह पर तीन ग्रामीणों को बेरहमी से पीटा

Shantanu Roy
30 April 2022 4:17 PM GMT
बैल चोरी के संदेह पर तीन ग्रामीणों को बेरहमी से पीटा
x
छग

बिलासपुर। तोरवा क्षेत्र में बैल चोरी करने के संदेह पर गांव वालों ने तीन ग्रामीणों की जमकर पिटाई की। मारपीट में ग्रामीणों के चेहरे में चोट आई है। सूचना मिलने पर पुलिस की डायल 112 टीम मौके पर पहुंची और तीनों को थाने ले गई। लेकिन उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने कोई नहीं पहुंचा। तोरवा पुलिस ने तीनों ग्रामीणों के खिलाफ धारा 151 के तहत कार्रवाई करते हुए न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है।

शनिवार को सुबह 10:30 बजे डायल 112 की टीम को सूचना मिली कि तोरवा थाना के देवरीडीह स्थित सफेद खदान में कुछ ग्रामीण तीन लोगों की बैल चोरी के आरोप में पिटाई कर रहे हैं। तीनों अपनी जान बचाने के लिए गुहार लगा रहे हैं। सूचना पर डायल 112 की टीम मौके पर पहुंची। वहां भीड़ जुटी थी। पुलिसकर्मियों ने भीड़ को हटाकर तीनों ग्रामीणों को सुरक्षित किया।
पूछताछ में ग्रामीणों ने अपना नाम साधराम बंजारे (43) व नकुल राठौर (60) निवासी मस्तूरी के ग्राम भदौरान और संदीप बघेल (21) निवासी ग्रामी ठीडोरा थाना मुलमुला जांजगीर-चांपा बताया। इसके बाद 112 की टीम तीनों ग्रामीणों को तोरवा थाना ले गई। उन्होंने चोरी करने से इन्कार किया। सुबह से लेकर शाम तक कोई भी उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने थाना नहीं पहुंचा। इसके बाद पुलिस ने धारा 151 के तहत कार्रवाई करते हुए तीनों ग्रामीणों को रिमांड पर भेज दिया है।
मारपीट करने वालों का नहीं लगाया पता
चोरी के संदेह पर तीनों ग्रामीणों की जमकर पिटाई करने वालों के बारे में पुलिस ने खोजबीन तक नहीं की। गांव में जाकर किसी ग्रामीणों से पूछताछ करना भी उचित नहीं समझा। जबकि पुलिसकर्मी भीड़ के बीच से तीनों ग्रामीणों को छुड़ाकर ले गए थे। इसके बावजूद तोरवा पुलिस मारपीट करने वालों के बारे में पता नहीं लगा पाई। जबकि हाल ही में सीपत थाना क्षेत्र में भी ऐसी ही घटना सामने आई थी। उसमें एक युवक को पेड़ से उल्टा लटकाकर पीटा गया था। उस मामले में चार आरोपितों की गिरफ्तारी की गई है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta