छत्तीसगढ़

घर से घूमने निकला था किशोर, दूसरे दिन बिलासपुर से हुआ बरामद

Shantanu Roy
28 April 2022 7:02 PM GMT
घर से घूमने निकला था किशोर, दूसरे दिन बिलासपुर से हुआ बरामद
x
छग

जशपुर। शहर के मधुबनटोली मुहल्ले का 18 साल का किशोर रहस्यमयी ढंग से लापता हो गया। स्वजन उसे शहर के गली कूचे के साथ आसपास के वन्य क्षेत्रों में खोजते रहे। अंततः किशोर बिलासपुर के रेल स्टेशन में मिला। कोतवाली पुलिस और रेल्वे पुलिस के सहयोग से स्वजन,किशोर को वापस लेकर आए। कोतवाली पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है। किशोर के पिता दिगंबर कंसारी ने बताया कि उनका बेटा अर्जुन कंसारी 26 अप्रैल की शाम को घर से घूमने के लिए निकला था।

देर रात तक उसके घर वापस न लौटने पर स्वजन और पड़ोसी ने अर्जुन की खोजबीन शुरू की। उसके दोस्त और पहचान वालों से जानकारी लेने के बाद बेलपहाड़ के जंगल को भी छान लिया गया। लेकिन किशोर का कहीं पता नहीं चला। निराश हो कर किशोर के स्वजनों ने मामले की सूचना कोतवाली पुलिस को दी। पुलिस गुम इंसान कायम कर, पतासाजी में जुटी हुई थी,इसी दौरान 27 अप्रैल की रात को किशोर ने अपने मोबाइल से काल करके पिता दिगंबर कंसारी को बताया कि वह बिलासपुर में है और आसपास ट्रेन की आवाज आ रही है।

पिता ने उसे नजदीक स्थित थाना में जाने को कहा और इसकी सूचना कोतवाली में दी। सूचना पर कोतवाली प्रभारी एलएस धुर्वे ने रेल्वे पुलिस से संपर्क कर मामले की जानकारी देते हुए किशोर को संरक्षित करने का अनुरोध किया और किशोर के स्वजनों के साथ एक सिपाही को बिलासपुर के लिए रवाना किया। गुरूवार को अर्जुन को लेकर स्वजन वापस जशपुर लौटे।

किशोर ने कहा किया गया था अपहरण
48 घंटे तक लापता रहने के बाद परिवार के बीच पहुंचा किशोर बुरी तरह से सहमा हुआ है। नईदुनिया को अर्जुन ने बताया कि 26 अप्रैल की रात को वह घूम कर महाराजा चौक से कदमटोली होते हुए घर की ओर लौट रहा था,इसी दौरान सिर पर किसी ने पीछे से वार किया और उसका हाथ पैर व मुंह को बांध कर पिकअप जैसे किसी वाहन में डाल कर अपहरण कर लिया । किशोर के मुताबिक सिर में लगे चोट के कारण उसे रास्ते भर ठीक से होश नहीं आया।
28 अप्रैल की सुबह होश आने पर उसने किसी तरह अपने हाथ पैर खोल कर,अपहरणकर्ताओं के चुंगल से भाग निकला और स्वजनो को फोन करने के बाद सीधा रेल्वे थाना पहुंचा। घटना से अर्जुन का पूरा परिवार दहशत में है। उनका कहना है कि बेटे का जिस तरह से बीच शहर से अपहरण किया गया उससे आने वाले समय भी इस तरह की घटना होने की आशंका उन्हें सता रही है। अर्जुन के पिता दिगंबर कंसारी का कहना है कि पुलिस को अपहरणकर्ताओं का पता लगा कर उन्हें सलाखों के पीछे भेजना चाहिए,ताकि फिर तरह की वारदात न हो सके।
वर्जन
मामले में किशोर के स्वजनों की शिकायत पर गुम इंसान कायम किया गया है। किशोर की स्थिति सामान्य होने पर उसका बयान दर्ज कर,आगे की कार्रवाई की जाएगी।
लक्ष्‌मण प्रसाद धुर्वे, कोतवाली प्रभारी, जशपुर
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta