छत्तीसगढ़

अंधे कत्ल का पुलिस ने किया खुलासा, युवक युवती गिरफ्तार

Shantanu Roy
9 May 2022 4:17 PM GMT
अंधे कत्ल का पुलिस ने किया खुलासा, युवक युवती गिरफ्तार
x
छग

रायगढ़। एसपी अभिषेक मीना के कुशल दिशा निर्देशन एवं एडिशनल एसपी लखन पटले तथा एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन पर #लैलूंगा पुलिस द्वारा दिनांक 03.05.2022 को थाना लैलूंगा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पोकडेगा में मिले अज्ञात पुरूष के शव की शिनाख्तगी कर हत्या को अंजाम देने में संलिप्तष मृतक की कथित प्रेमिका उसके चचेरे भाई को सारे सबूतों के साथ गिरफ्तार किया गया है। मृतक की कथित प्रेमिका का पति भी घटना में शामिल है जो पुलिस की पतासाजी की भनक पर फरार हो गया है, पुलिस सरगर्मी से उसकी तलाश में जुटी है। आरोपियों द्वारा मृतक की पहचान छिपाने शव को जलाया वहीं मृतक के एकाएक लापता होने पर उसके परिजनों के मोबाइल पर मैसेज कर यह भ्रम फैलाये कि मृतक स्वयं ही घर छोड़ कहीं चला गया है, किन्तु आरोपियों की चलाकी पुलिस की जांच के आगे फीकी साबित हुई। गिरफ्तार दोनों आरोपी अब सलाखों के पीछे हैं।

घटना के संबंध में दिनांक 03.05.2022 को ग्राम कोटवार पोकडेगा द्वारा जांच के लिये गांव के काजूबाडी पर पहुंचे थाना प्रभारी लैलूंगा निरीक्षक प्रवीण मिंज को बताया कि सुबह इसे जानकारी मिला कि पोकडेगा काजूबाड़ी जंगल में कोई अज्ञात व्यक्ति का लाश पड़ा हुआ है पूरा शरीर जल गया है कोई पहचान में नहीं आ रहा है । तब गांव के लोगों के साथ पोकडेगा काजू बाड़ी जंगल जाकर देखा तो काजू बाड़ी में एक अज्ञात व्यक्ति उम्र करीब 25-30 साल का शव जला हुआ पड़ा था । थाना प्रभारी द्वारा मौके पर शव पंचनामा मर्ग जांच कार्यवाही कर शव का पोस्ट मार्टम कराया गया । घटनास्थल पर मौजूद ग्राम पोकडेगा और आसपास के गांववाले मृतक को अपने गांव का नहीं होना बताये, अधजले शव की शिनाख्तगी पुलिस की पहली परेशानी थी जिसके लिये थाना प्रभारी लैलूंगा द्वारा मृतक के वारिसानों की पतासाजी के लिए शव के फोटोग्राफ्स पुलिस, मीडिया व अन्य कई व्हाटसअप ग्रुप में शेयर किये । जिले के थाना को रेडियो मैसेज, ईश्तहार जारी कर मृतक की शिनाख्तगी का प्रयास कर रहे थे कि वायरल फोटोग्राफ्स को बलरामपुर जिले में कार्यरत आरक्षक चंद्र विजय पैकरा पिता केशबो साय पैंकरा उम्र 40 वर्ष देखकर उसके छोटे भाई सत्यनारायण पैकरा (उम्र 30 वर्ष) का होने का संदेह जताया जिसके बाद पुलिस द्वारा चंद्र विजय पैकरा के घर वालों से संपर्क कर शिनाख्त की कार्यवाही कराये जो सत्यनारायण पैकरा पिता केशबो साय पैंकरा उम्र 30 वर्ष निवासी माटीपहाड़ छर्रा थाना तुमला जिला जशपुर * के रूप में पहचान किये । मृतक के घर वारिसान बताएं कि 4 मई को उनके द्वारा तुमला थाना जिला जशपुर में सत्यनारायण पैकरा के गुम इंसान रिपोर्ट दर्ज कराया गया कि 2 मई को सत्यनारायण महुआ बेचने निकला था उसके बाद से गायब है । पुलिस को पतासाजी के दौरान यह जानकारी मिली कि गांव की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सुनीता पैकरा से सत्यनारायण पैकरा का मैत्री संबंध थे । इस जानकारी पर जब थाना प्रभारी द्वारा विवेचना कर संदेही सुनिता पैंकरा को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया तो घटना से पर्त दर पर्त उठने लगा। आरोपिया सुनिता पैंकरा अपने पति रघुनंदन पैंकरा और रिस्ते के भाई मदन पैंकरा जो उनके घर अक्सर काम के सिलसिले में आता-जाता रहता था के साथ मिलकर 2 मई की रात भंगामुडा के पास घटना कारित कर उसके पति और चचेरे भाई मदन द्वारा शव को तोलमा रोड़ के आगे पोकडेगा में जला दिये । पुलिस द्वारा आरोपिया के चचेरे भाई मदन पैंकरा को भी हिरासत में लिया गया है।
गिरफ्तार दोनों आरोपी पुलिस को दिये अपने मेमोरेंडम बयान में बताये कि मृतक सत्यनारायण पैकरा का सुनीता पैकरा के साथ दो-तीन सालों से प्रेम संबंध था। सुनीता पैकरा का पति रघुनंदन पैंकरा बढाई है, घर पर भी काम करता था । आरोपिया सुनीता पैकरा बताई कि दोनों आपस में मिलते जुलते थे। सत्यनारायण पैकरा कुछ दिनों से मिलने के लिए बहुत दबाव बनाता था जिससे परेशान होकर अपने पति व भाई मदन पैकरा को बताई और सुनियोजित तरीके से 2 मई के शाम-रात करीब 7:00 बजे सत्यनारायण को मिलने के बहाने भंगामुडा के पास बुलाई जहां पूर्व से उसका पति रघुनंदन घर से पाटानुमा डंडा लेकर चचेरे भाई मदन पैकरा के साथ छिपे हुए थे जैसे ही सत्यनारायण पहुंचा रघुनंदन पैकरा पाटानुमा डंडा को हथियार के रूप में उपयोग कर सत्यनारायण के सिर, चेहरे पर ताबड़तोड़ वार किया जिससे सत्यनारायण वहीं फौत हो गया । उसके मृत्यु के पश्चात सत्यनारायण सत्यनारायण के शव को रघुनंदन पैकरा और मदन पैकरा रघुनंदन के मोटर सायकल में लेकर तोलमा रोड तरफ ले गए, जहां ग्राम पोकडेगा काजूबाड़ी पर महुआ पत्ता जलाने वाले गड्ढे में शव को साथ में लाएं पेट्रोल डालकर जला दिये और वापस घर चले गए । आरोपियों सुनीता पैकरा बताई कि उसका पति रघुनंदन पैकरा ज्सादातर घर के बाहर ही रहता था, घर बहुत कम आता था और घटना के बाद से ही फरार है । पुलिस कई ठिकानों पर दबिश दी आरोपी रघुनंदन पैंकरा फरार है पुलिस मुखबिर लगाए हुए हैं। आरोपियों के अपराधिक रिकार्ड की जानकारी लेने पर फरार आरोपी आरोपी रघुनंदन पैंकरा चोरी तथा मदन पैंकरा के दुष्कर्म (बलात्कार) के अपराध में जेल जाने की जानकारी मिली है। गिरफ्तार आरोपी सुनीता पैकरा तथा घटनास्थल से पुलिस द्वारा खून लगे मिट्टी, मृतक का चप्पल, खून लगा बोरा व फरसा पत्ता, सुनीता पैकरा एवं मदन पैंकरा का मोबाइल, मदन पैंकरा का घटना समय पहने कपड़े की जब्ती किया गया है।
पुलिस को आरोपी मदन पैंकरा बताया कि पूरी प्लानिंग रघुनंदन पैकरा की थी। घटना के दिन हत्या के बाद घटनास्थल पर मृतक के बह रहे खून को रोकने के लिए बोरा प्लास्टिक (झिल्ली) का प्रयोग कर किए तथा पकड़ेगा काजू बाड़ी लाकर गड्ढे में शव को जला दिये। घटना के बाद 3 तारीख के सवेरे रघुनंदन पैकरा ने पुलिस और सत्यनारायण पैंकरा के परिजनों में भ्रम फैलाने, गुमराह करने के लिए मृतक के मोबाइल से मृतक की मंगेतर जिससे उसकी शादी होने वाली थी उसे सत्यानारायण की बहन के मोबाइल नम्बर पर इस प्रकार का मैसेज किया कि सत्यानारायण "जीवन में कुछ ऐसा कर दिया है कि वह शक्ल नहीं दिखा सकता वह अपने आप को सजा देगा" जबकि पोस्टमार्टम के अनुसार मृतक की हत्या 2 तारीख के आसपास की जानकारी मिल रही । क्राईम सीन से पुलिस द्वारा महत्वपूर्ण साक्ष्यों की जप्ती कर आरोपिया- (1) मदनलाल पैकरा पिता जनक साय पैकरा 26 साल निवासी जामझोर थाना बागबहार जिला जशपुर (2) श्रीमती सुनीता पैकरा पति रघुनंदन पैकरा उम्र 36 वर्ष निवासी माटीपहाड़ छर्रा तुमला जिला जशपुर को हत्या के अपराध में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है । एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के सुपरविजन, मार्गदर्शन पर में थाना प्रभारी लैलूंगा निरीक्षक प्रवीण कुमार मिंज, उप निरीक्षक बी.एस. पैंकरा, प्रधान आरक्षक सोमेश गोस्वामी, आरक्षक जोन टोप्पो, हेलारियुस तिर्की, अमरदीप एक्का, प्रमादे भगत की अहम भूमिका रही है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta