छत्तीसगढ़

नवनियुक्त स्कूल शिक्षा सचिव बीएड कॉलेज का किया निरीक्षण

Shantanu Roy
28 April 2022 5:05 PM GMT
Newly appointed school education secretary inspected B.Ed college
x
छग

रायपुर। नवनियुक्त स्कूल शिक्षा सचिव डॉ. एस भारतीदासन ने गुरुवार को एससीईआरटी और बीएड कॉलेज का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने कहा बच्चों में परीक्षा का भय खत्म करने के लिए यह आवश्यक है कि शिक्षक परीक्षा या बोर्ड परीक्षा के पहले बच्चों की एक परीक्षा ले, ताकि उनमें आत्मविश्वास विकसित हो. शिक्षक को बच्चों को सरल तरीके से समझाएं, ताकि उन्हें अच्छी तरह याद हो सके.

इस आशय के विचार स्कूल शिक्षा विभाग के नवनियुक्त सचिव डॉ. एस. भारतीदासन ने गुरुवार सुबह राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) में आयोजित एक अनौपचारिक बैठक में व्यक्त किए. उन्होंने इस मौके पर संचालक एससीईआरटी राजेश सिंह राणा के साथ बीएड कॉलेज का भी भ्रमण किया.

डॉ. भारतीदासन ने कहा कि बच्चों में परीक्षा के प्रति भय का वातावरण रहता है. इसे दूर करने के लिए आवश्यक है कि हर विषयों में 5-5 के चार समूह बनाए जाएं और चार पेपर सेट किए जाएं. उसमें से एक पेपर पर परीक्षा हो. इससे ये भी पता चलेगा कि शिक्षकों ने कितना काम किया है. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि शिक्षक किसी भी काम को औपचारिक ना समझें बल्कि वह रिजल्ट ओरिएंटेड काम करें. उन्होंने अंग्रेजी माध्यम के सेल से कहा कि ऐसा काम करें जिससे छत्तीसगढ़ के बच्चे अंग्रेजी प्रतियोगिताओं में अव्वल आए और फर्राटेदार इंग्लिश बोल सकें.
भाषा पर विशेष ध्यान
भारतीदासन ने कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग में उच्च प्राथमिकता के कार्यो को और ज्यादा बेहतर तरीके से संचालित किया जाना है. उन्होंने कहा कि एससीईआरटी एक महत्वपूर्ण संस्था है. जिसमें हम यह तय करते हैं कि बच्चे कैसे पढ़ेंगे, क्या पढ़ेंगे. हमें बच्चों की भाषा पर विशेष ध्यान देना है. बच्चों की इंग्लिश, हिंदी और स्थानीय भाषा अच्छी होगी तो वे समाज में आगे आकर काम कर सकते हैं और किसी भी परीक्षा में इंटरव्यू अच्छे से दिला सकते हैं.
बीएड और एमएड को प्राथमिकता
नवनियुक्त सचिव ने बीएड कॉलेज निरीक्षण के दौरान कहा कि नियमित बीएड के साथ पत्राचार के जरिए बीएड और एमएड को प्राथमिकता देनी है. जिसमें शिक्षक स्कूल में रहकर कोर्स पूरा कर सकें और ज्यादा से ज्यादा डिग्री ले सकें. उन्होंने बीएड कॉलेज में धरोहर कार्यक्रम के अंतर्गत रखी गई वस्तुओं को सहेजने और साफ सुथरा रखने के निर्देश दिए.
प्रशिक्षण की दी गई जानकारी
इससे पहले एससीईआरटी के संचालक राजेश सिंह राणा ने स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत एससीआरटी द्वारा चल रही गतिविधियों के बारे में जानकारी दी. उन्होंने शिक्षा समागम, बालवाड़ी, राज्यस्तरीय कार्यशाला, विभिन्न गठित प्रकोष्ठ के कार्यों और शिक्षकों के प्रशिक्षण के संबंध में विस्तार से बताया. इस अवसर पर एससीईआरटी के अपर संचालक डॉ. योगेश शिवहरे सहायक संचालक प्रशांत पांडेय, वरिष्ठ प्राध्यापक निशी भांबरी, बीएड कॉलेज की प्राचार्य जे. एक्का, पुष्पा किस्पोट्टा सहित विभिन्न प्रकोष्ठ के प्रभारी उपस्थित थे.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta