छत्तीसगढ़

बिजली कंपनी का मैनेजर गिरफ्तार, ये वजह आई सामने

Shantanu Roy
26 April 2022 7:03 PM GMT
बिजली कंपनी का मैनेजर गिरफ्तार, ये वजह आई सामने
x
छग

बिलासपुर। एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट ने बिजली के टावर चोरी के मामले में पीएसपीडीसीएल के मैनेजर समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, बिजली कंपनी के सामान को खरीदने वाला कबाड़ी फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। बीते दिनों रतनपुर और चकरभाठा क्षेत्र में बिजली के टावर से एंगल चोरी का मामला सामने आया था। बिजली के टावरों से हो रही चोरी के मामले में एसपी पास्र्ल माथुर ने एसीसीयू और सभी थाना प्रभारियों को आरोपित को पकड़ने निर्देश दिए थे।

इसी क्रम में एसीसीयू की टीम कबाड़ियों पर नजर रखे हुए थी। सोमवार को टीम ने दो कबाड़ियों के ठिकानों पर दबिश दी। इसमें उनके कब्जे से वाहनों के कटे हुए पार्ट्स मिले। इसके बाद पुलिस ने मंगलवार को टीम ने मंगला चौक में सोनू कबाड़ी के ठिकाने पर दबिश दी। उसके पास से लोहे का सामान जब्त किया गया।
जांच के दौरान पता चला कि एक व्यक्ति बाबा कबाड़ी के पास पिकअप में बिजली के सामान और एंगल बिक्री करने आया हुआ है। टीम ने दबिश देकर मौके से मनोहर सिंह सलाम(36) निवासी ग्राम उपका थाना कोटा को पकड़ लिया। पूछताछ में वह पुलिस को गुमराह कर रहा था।
कड़ाई करने पर उसने अपने आपको सीएसपीडीसीएल का मैनेजर बताया। उसने अपने साथियों के साथ मिलकर बिजली के टावर से एंगल और तार चोरी कर कबाड़ी के पास बेचना स्वीकार किया। कबाड़ी बाबा के ठिकाने से भी पुलिस ने टावर के एंगल जब्त किए हैं।
इसके अलावा चार बंडल एल्युमिनियम के तार, बोलेरो वाहन, लोहे का पाइप जब्त किया गया है। मामले में पुलिस ने मैनेजर मनोहर सालम के साथ ही उसके साथियों दीपराज बघेल (21) निवासी कुदुदंड, कार्तिक बघेल (50) निवासी कोनी, इंद्रदेव पोर्ते (28) निवासी उपका थाना कोटा को गिरफ्तार किया गया है। मामले में कबाड़ी फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta