छत्तीसगढ़

डेंटिस्ट डॉक्टर हुआ ठगी का शिकार, जांच में जुटी पुलिस

Janta Se Rishta Admin
6 May 2022 6:05 AM GMT
डेंटिस्ट डॉक्टर हुआ ठगी का शिकार, जांच में जुटी पुलिस
x

रायगढ़। बिल नहीं पटने पर बिजली कनेक्शन काटने का झांसा देते हुए शातिर ने शहर के डा ईशान अवस्थी को 50 हजार का आनलाइन चूना लगा दिया। प्ले स्टोर से एनी डेस्क एप लोडकर ओटीपी बताने की गलती डेंटिस्ट को महंगा पड़ गया। ठगी के शिकार चिकित्सक ने अब पुलिस से मदद की गुहार लगाते हुए शिकायत दर्ज करवाया है।

चक्रधरनगर पुलिस सूत्रों के मुताबिक अंचल के सुप्रसिद्ध अस्थि रोग विशेषज्ञ डा. शरद अवस्थी के बेटे डा. ईशान अवस्थी दंत रोग विशेषज्ञ हैं और मुकुट नगर में उसका निवास है। डा ईशान के मोबाइल में 30 अप्रैल को एक मैसेज आया कि उनके घर का विद्युत कनेक्शन काटा जाएगा। पिछला बिल अपडेट नहीं है, इसलिए बचने के लिए तत्काल बिजली अधिकारी का मोबाइल नंबर देते हुए संपर्क करने के लिए कहा गया। ईशान ने मैसेज में दिए मोबाइल नंबर पर काल किया तो दीपक शर्मा नामक कथित बिजली अधिकारी ने 10 रुपए का बीएसएनएल रिचार्ज करने के लिए कहा। डेंटिस्ट ने 10 रुपए का रिचार्ज किया तो दीपक शर्मा ने प्ले स्टोर में जाकर एनी डेस्क एप लोड करने कहा गया। ईशान ने यह भी किया तो एप की लागिन आईडी मांगी गई। डेंटिस्ट ने इसकी भी जानकारी दी तो ओटीपी आया और उसे बताने के बाद वह आनलाइन ठगी का शिकार हो गया। बिजली कनेक्शन को कटने से बचाने के चक्कर में सारी आनलाइन प्रक्रिया के बाद ईशान के मोबाइल में उसके भारतीय स्टेट बैंक के कृषि विकास शाखा (एडीबी) के खाते से 50 हजार रुपए ट्रांजेक्शन का मैसेज आया। चूंकि डेंटिस्ट ने यह रकम आहरित नहीं किया था, इसलिए इसकी असलियत जानने बैंक गए तो खुलासा हुआ कि वे 50 हजार की आनलाइन ठगी का शिकार हो गए हैं। डा ईशान अवस्थी का शिकायत पर चक्रधरनगर पुलिस ने अज्ञात आरोपित के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर सायबर सेल की सहायता से पतासाजी कर रही है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta