छत्तीसगढ़

कांग्रेस ने उठाए सवाल, किसके दबाव में क्वींस क्लब को दी गई जमीन

Admin2
29 Sep 2020 6:07 AM GMT
कांग्रेस ने उठाए सवाल, किसके दबाव में क्वींस क्लब को दी गई जमीन
x
भाजपा निरस्त करने का मांग कर भूल सुधारे

ज़ाकिर घुरसेना

भाजपा निरस्त करने का मांग कर भूल सुधारे

रइसों का ख्वाबगाह सील, 14 पर मामला दर्ज, 5 गिरफ्तार

गोली चलाने वाले पर हत्या का प्रयास का केस दर्ज

रायपुर। क्वींस क्लब की जमीन अब राजनीतिक मुद्दा बन गई है। भाजपा शासन काल में अपनो को लाभ पहुंचाने की नीयत और सरकारी जमीन का बंदरबांट करने की साजिश का फलता-फूलता ख्वाबगाह है, क्वींस क्लब जहां राजनीतिक रसूखदारों ने हाउसिंग बोर्ड की जमीन पर अपने बंगले अलाटमेंट कराए और पास में क्वींस क्लब बनाने मनोरंजन स्थल के लिए क्लब को जमीन देने की सहमति जताई और औने-पौने दाम पर क्वींस क्लब को हाउसिंग बोर्ड की जमीन दे दी गई। कल रात की घटना के संबंध में पुलिस ने 14 लोगों पर प्रकरण दर्ज कर 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। गोली चलने की घटना की विवेचना कर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह ने अजय चंदराकर के जवाब में भाजपा पर ही सवाल खड़े कर दिए है। आरपी सिंह ने लिका है कि किसकी सरकार में और किस प्रशासनिक अधिकारी के दबाव में क्वींस क्लब को जमीन दी गई थी। क्या भाजपा और आप उस जमीन को निरस्त करने की मांग करते हुए अपनी भूल स्वीकार करेंगे।

विपक्ष हुआ हमलावर : विपक्ष ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए आरोपों की झड़ी लगा दी है। लॉकडाउन के दौरान राजधानी के क्वींस क्लब में पार्टी और फायरिंग की घटना ने प्रशासनिक सख्ती की पोल खोल दी है। प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। भाजपा ने इस घटना को लेकर सरकार पर सवाल उठाए है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व विधायक शिवरतन शर्मा ने कहाकि यह बेहद शर्मनाक स्थिति है। जिले के प्रभारी मंत्री रवींद्र चौबे ने राजधानी में घूमकर लॉकडाउन का जायजा लिया। उन्हें सब कुछ सामान्य नजर आया। उसके बाद क्वींस क्लब में फायरिंग की वारदात होने को कैसे सामान्य कहा जा सकता है। शिवरतन शर्मा ने कहा कि बर्थडे पार्टी को किसने अनुमति दी, और कैसे दी, यह सार्वजनिक होना चाहिए। प्रभारी मंत्री रवींद्र चौबे को अपनी भूमिका भी प्रदेश के सामने स्पष्ट करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राजधानी में लॉकडाउन को लेकर शुरू से ही लापरवाही का आलम था।

लॉकडाउन में अपराधियों का जमावड़ा : शिवरतन शर्मा यहीं नहीं रूके, उन्होंने शहर में हो रहे जमावड़ा और आपराधिक अड्डे भी गिनाए। ईदगाह भाठा क्षेत्र में मजमा लगता रहा। होटल खोलकर सट्टे का कारोबार चलाया जाता रहा। भाजपा विधायक ने कहा कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर भी जिला प्रशासन को एफआईआर दर्ज करना चाहिए । पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने ट्वीट पर लिखा, रायपुर में गोली चली, विधायक, पूर्व विधायक, सांसद, पूर्व सांसद, घटनास्थल के आसपास ही रहते है। छत्तीसगढ़ के कांग्रेस शासन में भगवान से प्रार्थना है कि सबकी रक्षा करें।

एसएसपी अजय यादव ने लाइसेंस निरस्त करने चि_ी लिखी : घटना के दूसरे दिन प्रशासन और पुलिस की टीम क्लब की जांच करने गई थी। जहां कमरा नंबर 206 में शराब की बोतल और खाने-पीने का सामान मिला है। प्रशासन ने क्लब को सील कर दिया है। इधर एसएसपी अजय यादव ने क्लब का लाइसेंस निरस्त करने के लिए कलेक्टर को चि_ी लिखी है।

आबकारी विभाग को भी पत्र लिखकर उचित कार्रवाई करने को कहा गया हैं।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में दो अलग-अलग केस दर्ज किया गया है। बीएसपी के ठेकेदार और एनआरआई हितेश भाई पटेल पर हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है। क्लब संचालक, मैनेजर, पार्टी के लिए कमरे बुक करने वाले और पार्टी में शामिल कुल 13 लोगों पर आदेश उल्लंघन, आपदा प्रबंधन एक्ट, महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। पुलिस ने मौके से हितेश पटेल के अलावा, डायरेक्टर मेंबर बिल्डर हर्षित सिंघानिया, मैनेजर सूरज शर्मा, असिस्टेंट मैनेजर संस्कार पाचे और करन सोनवानी को गिरफ्तार किया हैं। एएसपी लखन पटले ने बताया कि क्लब कारोबारी सौरभ बत्रा और उनके भाई के नाम पर है। उन्होंने लीज में शहर के कारोबारियों को दिया है। इसमें बिल्डर सुबोध सिंघानिया का भी नाम सामने आया है।

सभी को नोटिस जारी किया गया

तेलीबांधा पुलिस ने क्वींस क्लब के संचालक बिल्डर हर्षित सिंघानिया, मिनाली सिंघानिया, नमित जैन, चम्पालाल जैन, नेहा जैन, मैनेजर सूरज शर्मा, असिस्टेंट मैनेजर संस्कार पाचे, कमरे बुक कराने वाले अमित धवल, मिनल, पार्टी में आए राजवीर सिंह, अभिजीत कौर निरंकारी, ट्विंकल सिंह, करण सोनवानी और हितेश पटेल पर केस दर्ज किया है। सभी को नोटिस जारी किया गया हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta