बिहार

तेजस्वी यादव ने किया ऐलान- जाति के बिना नहीं होने देंगे कोई जनगणना, बीजेपी पहले कर चुकी है मना

Rani Sahu
4 May 2022 11:20 AM GMT
तेजस्वी यादव ने किया ऐलान- जाति के बिना नहीं होने देंगे कोई जनगणना, बीजेपी पहले कर चुकी है मना
x
बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने ऐलान किया है बिहार में वह बिना जाति के कोई जनगणना नहीं होने देंगे

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने ऐलान किया है बिहार में वह बिना जाति के कोई जनगणना नहीं होने देंगे. तेजस्वी ने ट्वीट किया है- बीजेपी घोर सामाजिक न्याय विरोधी पार्टी है. बिहार विधानसभा से जातिगत जनगणना कराने का हमारा प्रस्ताव 2 बार सर्वसम्मति से पारित हो चुका है. लेकिन BJP और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री राय ने लिखित में जातिगत जनगणना कराने से मना कर दिया है. बिना इसके बिहार में कोई जनगणना नहीं होने देंगे. दरअसल बिहार में एकबार फिर जाति आधारित जनगणना को लेकर सियासत शुरू हो गई है. तेजस्वी यादव ने खुलेआम ऐलान कर दिया है कि बिहार में बिना जाति के कोई जनगणना नहीं होने देंगे. इसके साथ ही उन्होंने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय (Nityanand Rai) पर भी हमला बोला है.

तेजस्वी यादव ने कहा है कि गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने लिखित में जातिगत जनगणना कराने से मना कर दिया है.
सबको मिलेगा बराबर का मौका
दरअसल तेजस्वी यादव लगातार जातीय जनगणना के मुद्दे पर हमलावर है. जातीय जनगणना के मुद्दे पर वह नीतीश कुमार को घेरने की लगातार कोशिश करते रहे हैं. तेजस्वी यादव ने जातीय जनगणना पर कहते रहे हैं बिहार में जातीय जनगणना होना तय है.नीति आयोग की रिपोर्ट में 52% लोग गरीब हैं.जातीय जनगणना से सबको बराबरी का मौका मिलेगा.
'लालू प्रसाद करते रहे हैं इसकी मांग;
तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू प्रसाद यादव ने पहले ही जातीय जनगणना के लिए मांग रखी थी. विकास व बराबरी के मौके के लिए जातीय जनगणना बेहद जरूरी है. इसके साथ ही तेजस्वी यादव ने जातिगत जनगणना को लेकर एक बार बयान दिया था कि जब में सिंगल था तब जातिगत जनगणना को लेकर पार्टियों की मीटिंग की बात हुई थी. मेरी शादी हो गई लेकिन इस मामले पर बात आगे नहीं बढ़ी.
बीजेपी ने ठुकरा दी है मांग
बिहार में जातिगत जनगणना को लेकर सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में प्रदेश राजनीतिक दलों का एक प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी. जिसे बीजेपी ने स्पष्ट शब्दों में मना कर दिया था. बीजेपी ने कहा था कि देश में लाखों की संख्या में जाति है और जाति जनगणना करवाना संभव नहीं है. इसके बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने खर्चे पर जातिगत आधारित जनगणना कराने की बात कही थी. उन्होंने कहा था कि इसके लिए आल पार्टी मीटिंग के बाद इस दिशा में आगे बढ़ा जाएगा.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta