आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश में वामपंथी दलों का कृषि बिलों के खिलाफ तीन दिवसीय रिले भूख हड़ताल

Mahima Marko
27 Sep 2020 11:50 AM GMT
आंध्र प्रदेश में वामपंथी दलों का कृषि बिलों के खिलाफ तीन दिवसीय रिले भूख हड़ताल
x

फाइल Pic 

आंध्र प्रदेश में वामपंथी दलों का कृषि बिलों के खिलाफ तीन दिवसीय रिले भूख हड़ताल,

दस वामपंथी दलों ने केंद्र सरकार द्वारासंसद में पारित कृषि बिलों के खिलाफ 29 मई से आंध्र प्रदेश में तीन दिवसीय रिले भूख हड़ताल करने का फैसला लिया है। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वर्तमान में जारी जिलाधीश कार्यालयों की घेराबंदी के साथ अनशन कार्यक्रम भी 29 से आरंभ किया जाये।

नेताओं ने कहा कि केंद्र के तीन कृषि बिलों को वापस लेने तक उनकी लड़ाई जारी रहेगी। कृषि विधेयकों के खिलाफ किसानों के जारी आंदोलन के समर्थन में शनिवार को दस वामपंथी दलों की विजयवाड़ा के सीपीएम कार्यालय में बैठक संपन्न हुई। इस बैठक में तीन अनशन करने का फैसला लिया गया।

बैठक के बाद माकपा के राज्य सचिव पी मधु ने मीडिया से कहा कि वामपंथी दलों के साथ किसानों के शुभचिंतक मिलकर तीन दिन अनशन कार्यक्रम किया जाएगा। अनशन को सफल बनाने के लिए रविवार और सोमवार को जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

सीपीआई के प्रदेश सचिव के रामकृष्णा ने कहा कि मोदी सरकार कॉर्पोरेट एजेंडे को लागू करते हुए सरकारी संस्थाओं को कॉर्पोरेट कंपनियों को सौंप देने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि कृषि बिल से किसानों को अनेक प्रकार से मुश्किले पैदा होगी। बैठक में वामपंथी नेता जल्ली विल्सन, वाई वेंकटेश्वर राव और अन्य ने भाग लिया।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta