CG-DPR

जिला एवं पुलिस प्रशासन की तत्परता से बंधक मजदूरों को मुक्त कराया गया

jantaserishta.com
14 April 2022 4:16 AM GMT
जिला एवं पुलिस प्रशासन की तत्परता से बंधक मजदूरों को मुक्त कराया गया
x

बीजापुर: मानव तस्करी में लिप्त आरोपी कनकू फकीर, कनकू राजू एवं कोकिला पंडु निवासी चेरला (तेलंगाना) द्वारा बीजापुर जिले के मद्देड़ थाना क्षेत्र के 6 ग्रामीण मजदूरों को रोजी-रोटी, रहने, खाने पीने एवं 10 हजार रूपए पारिश्रमिक तथा एक माह का काम है, बताकर पिकअप वाहन से महाराष्ट्र के पुणे जिले ले गया। महाराष्ट्र जाने वाले मजदूरों में मद्देड़ के भीम शाह मंडावी, टिंगे नागेश, सुनील वासम, नरेन्द्र भास्कर, सुरेश एवं अनिल जव्वा थे। एक माह के काम बताकर ले जाने के बाद 3-4 माह से वापस नहीं आए न ही किसी के परिवार से संपर्क हो पा रहा था। फिर श्रमिकों के परिजनों द्वारा पूरी जानकारी श्रमविभाग बीजापुर को दिया गया। कलेक्टर श्री कटारा के निर्देशन में श्रम विभाग के श्रम पदाधिकारी श्री चौरसिया द्वारा तीनों आरोपी के विरूद्ध मद्देड़ थाना में एफआईआर दर्ज कराकर पुलिस एवं श्रम विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आरोपियों की तलाश में निकले जिसमें चेरला में कनकू फकीर को गिरफ्तार कर लिया गया। कनकू फकीर के गिरफ्तार होते ही उनके दोनो साथी फरार हो गये। उनकी तलाश जारी है। गिरफ्तारी के बाद आरोपियों में दहशत का माहौल बना जिससे बंधक श्रमिकों को मुक्त किया गया। सभी श्रमिक सकुशल मद्देड़ पहुंच चुके हैं। इसी तरह अन्य दो और बंधक मजदूरों को भी मुक्त किया गया जिसमें अरविंद दुब्बा एवं मड़वी जगदीश जो ग्राम पारवेल थाना मोदकपाल के निवासी हैं। अरविंद एवं मड़वी मोबाईल से बंधन मुक्त होने की जानकारी अपने परिजनों एवं श्रम विभाग को दी है। बंन्धक मजदूरों ने बताया कि वहां एक कमरे में बन्द कर बहुत प्रताड़ित किया। खाना-पीना भी ढंग से नहीं देते थे। लगातार काम करवाते थे और बाहर नहीं जाने देते थे न ही पैसा दिये, बहुत तकलीफ दायक समय काटे। जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन का हम बहुत आभारी हैं। जिसने हमारी परवाह कर बंधन से मुक्त कराया।

बीजापुर 13 अप्रैल 2022- जिले के ग्राम पंचायत ईटपाल के अन्तर्गत मदार पारा में कुमारी पायल और कुमारी निमिषा दोनों मिलकर अपने मोहल्ले के 21 बच्चों को मोहल्ले में शिक्षा दे रहे हैं। इस मोहल्ला क्लास के माध्यम से बच्चों को खेल.खेल में बुनयादी साक्षरता और संख्या ज्ञान का बोध करा रहे हैं। कुमारी पायल और निमिषा के नेतृत्व में हर रोज नई.नई गतिविधि से क्लास की शुरुआत जैसे बालगीत और स्वच्छता गीत से होती है। जिससे की बच्चें मोहल्ला क्लास में आने के लिये रोज उत्सुक रहते है प्रतिदिन 19 बच्चों से कम उपस्थिति नही रहती है।पायल और निमिषा ने बताया पिछले सप्ताह हमारे मोहल्ले में गांधी फेलो अरुण कुमार आये थे जो इसी तरह के गतिविधि से बच्चों को सिखाया उनकी इस गतिविधि से बच्चों के साथ हम भी काफी प्रभावित हुए और हम भी जुड़ गए इस सीखने और सिखाने की कड़ी से।
हमारे गाँव और जिले के सभी सहेलियों और युवकों से हम आग्रह करते है कि इस तरह की मोहल्ला क्लास का आप लोग भी नेतृत्व करे ताकि कोरोना के काल में जो क्षति विशेषकर बच्चों की शिक्षा प्रभावित हुई हैं उसकी भरपाई एक छोटी सी आपके प्रयास से बड़ी बदलाव हो सकती है आपके समाज में। तो आप भी आगे आइये और अपने गांव, समाज को शिक्षित बनाने की इस मुहिम से जुड़े और जिला प्रशासन तथा शिक्षा विभाग का सहयोग करें।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta