CG-DPR

गौठान ग्राम राखी में माटी पूजन दिवस मनाया गया, जैविक खेती को अपनाकर माटी की सुरक्षा करें

jantaserishta.com
4 May 2022 3:33 AM GMT
गौठान ग्राम राखी में माटी पूजन दिवस मनाया गया, जैविक खेती को अपनाकर माटी की सुरक्षा करें
x

बेमेतरा: अक्षय तृतीया अक्ती पर्व प्रदेश सहित पूरे जिले में माटी पूजन दिवस के रूप में मनाया गया। आज जिले के विकासखंड साजा के ग्राम राखी के गौठान में माटी पूजन दिवस कार्यक्रम आयोजित कर धरती माता की रक्षा का संकल्प लिया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री विलास भोसकर संदीपान, जिला कमेटी के अध्यक्ष श्री बंशी पटेल, जनपद पंचायत अध्यक्ष साजा दिनेश वर्मा, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती लीना मंडावी, कृषि महाविद्यालय बेमेतरा के डीन डॉ के पी वर्मा, उप संचालक कृषि एम डी मानकर, महिला स्वा सहायता समूह को बहने सहित किसान एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए अनेक पहल कर रही है। इसी कड़ी में मिट्टी की उर्वरा शक्ति के पुनर्जीवन के लिए रसायनिक खाद एवं कीटनाशकों के स्थान पर वर्मी कंपोष्ट के उपयोग के साथ गौ मूत्र एवं अन्य जैविक पदार्थों को बड़े पैमाने पर बढ़ावा दिया जा रहा है।
इस दौरान कलेक्टर श्री भोसकर ने किसानों एवं आम नागरिकों को धरती माता की रक्षा के लिए शपथ दिलाई। सभी किसानों एवं आम नागरिकों ने शपथ लिया कि हम हमारी मिट्टी जिसे हम माता, भुइया कहते है उसकी रक्षा करेंगे। हम अपने खेत बगीचों और घरों में जैविक खाद का उपयोग करेंगे। हम ऐसा कोई काम नहीं करेंगे। जिससे हमारी मिट्टी पानी की सेहत खराब हो। हम हानिकारक रसायनों के कारण भूमि जल को होने वाले नुकसान के प्रति सबको सचेत कर पर्यावरण की रक्षा करेंगे। हम आने वाली पीढ़ियों के लिए साफ पानी, शुद्ध हवा और उपजाऊ मिट्टी बचाएंगे।
इस अवसर पर श्री बंशी पटेल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। अक्ती का यह दिन हमारी संस्कृति के साथ साथ हमारी कृषि परंपरा में भी बहुत महत्त्वपूर्ण माना जाता है। आज के दिन से ही नई फसल की तैयारी शुरू हो जाती है। कृषि महाविद्यालय के डीन डॉ के पी वर्मा ने माटी पूजन दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला। कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक डॉ रंजीत सिंह ने स्वगत भाषण किया। कृषि कॉलेज के छात्र साकेत साहू ने धरती मईया पर छत्तीसगढ़ी गीत प्रस्तुत किया तथा छात्राओं ने सामूहिक छत्तीसगढ़ी नृत्य की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर सहायक संचालक मछली पालन वाय के डिंडोरे, सहायक संचालक उद्यान हितेंद्र मेश्राम, कृषि वैज्ञानिक डॉ एकता ताम्रकार, डॉ भारती बघेल, डॉ प्रज्ञा पाण्डेय, डॉ जितेंद्र जोशी, डॉ जी पी आयाम सहित ग्रामवासी उपस्थित थे।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta