CG-DPR

केला तना से रेशा बनाकर स्व सहायता समूह की बहनें तैयार कर रही है सजावटी सामान

jantaserishta.com
4 May 2022 3:32 AM GMT
केला तना से रेशा बनाकर स्व सहायता समूह की बहनें तैयार कर रही है सजावटी सामान
x

बेमेतरा: गौठान को ग्रामीण आजीविका के ठौर (ठिया) के रुप में विकसित करने के लिए सुराजी गांव योजना के तहत हर संभव प्रयास किये जा रहे है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की परिकल्पना के अनुरूप गौठान को रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है। गौठान ग्राम राखी में जिला खनिज संस्थान न्यास से केला तना से रेशा निर्माण यूनिट की स्थापना की गई है। जहां महिला स्व सहायता समूह की बहनें केला तना से रेशा निर्माण कर रही हैं। इसका उपयोग टेबल मेट, पेन स्टैण्ड, सजावटी बैग आदि वस्तुएं बनाई जा रही है। इससे स्व सहायता समूह को तीन माह में तीन लाख का मुनाफा अर्जित हुआ है।

आज अक्ती पर्व माटी पूजन दिवस के अवसर पर कलेक्टर श्री विलास भोसकर संदीपान, जिला कमेटी के अध्यक्ष श्री बंशी पटेल एवं जिला पंचायत सीईओ श्रीमती लीना मंडावी ने राखी के गौठान में स्व सहायता समूह के बहनों से मिलकर सजावटी सामान का अवलोकन किया और उनके कार्यों की सराहना की। कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि वैज्ञानिक डॉ रंजीत सिंह राजपूत ने बताया कि केला तना रेशा एक एक टन माल गुजरात की एक कम्पनी से डिमांड आया है। एक टन सामग्री भेजी जा रही है। कृषि वैज्ञानिक डॉ एकता ताम्रकार ने बताया कि गौठान में दो नग हैण्ड लूम स्थापित कर केला तना से वस्त्र तैयार किया जा रहा है। इसके लिए उत्तर प्रदेश के लखीमपुर एवं बिहार के कुशीनगर से दक्ष कारीगर ट्रेनिंग दे रहे हैं। जिसके मार्गदर्शन में काम चल रहा हैं।
ज्ञात हो कि प्रदेश के कृषि मंत्री श्री रविंद्र चौबे ने फरवरी 2022 में ग्राम राखी में केला तना से रेशा निर्माण यूनिट का लोकार्पण किया था। कृषि मंत्री ने महिला स्व सहायता समूह को आत्मनिर्भर बनने की दिशा में जिला प्रशासन द्वारा किए जा रहे प्रयासो की सराहना की थी ।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta