CG-DPR

प्रभारी मंत्री ने गांवों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करने के दिये निर्देश

jantaserishta.com
28 April 2022 3:06 AM GMT
प्रभारी मंत्री ने गांवों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करने के दिये निर्देश
x

बलरामपुर: छत्तीसगढ़ शासन के नगरीय प्रशासन एवं विकास, श्रम तथा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के एक दिवसीय प्रवास के दौरान संयुक्त जिला कार्यालय भवन के सभाकक्ष में विभिन्न विभागों की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने सभी विभाग प्रमुखों से विभाग में संचालित योजनाओं का लाभ आम लोगों तक पहुंचाने को कहा।

बैठक में प्रभारी मंत्री डॉ. डहरिया ने जिले के सभी नगरीय निकायों में संचालित कार्यों एवं प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने मुख्य नगर पालिका अधिकारियों से आमजनों की समस्याओं के निराकरण की स्थिति, वाटर एटीएम, जल आवर्धन, प्रधानमंत्री आवास, पौनी पसारी योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी ली। जल आवर्धन योजना के तहत् निकायों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को दिए। भागीरथी नल-जल योजना की समीक्षा करते हुए स्वीकृत कार्यों की जानकारी ली तथा कार्य में प्रगति नहीं होने पर मुख्य नगर पालिका अधिकारी कुसमी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। नगर पंचायत राजपुर में स्वीकृत जल आवर्धन योजना को एक सप्ताह के अंदर पूर्ण करने के निर्देश लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी को दिये। उन्होंने नगरीय निकाय क्षेत्र के अंतर्गत सभी भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने को कहा। प्रभारी मंत्री ने सभी नगरीय निकायों में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण के संबंध में चर्चा की। प्रभारी मंत्री डॉ. डहरिया ने कहा कि गोधन न्याय योजना शासन की प्राथमिकता वाली योजना है, इसे ग्राम पंचायतों के साथ जिले के सभी नगरीय निकायों में भी सुचारू रूप से संचालित किया जाना है।
राजस्व विभाग की समीक्षा में अविवादित नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन सहित अन्य राजस्व प्रकरणों को समय-सीमा में निराकरण करने को कहा। उन्होंने पटवारियों की उपस्थिति मुख्यालय में सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। मंत्री डॉ. डहरिया ने भूमि संबंधी रिकार्ड जैसे नकल, खसरा, बी-1 लोगों को तत्काल मिल सके, ऐसी व्यवस्था करने के निर्देश दिए। बैठक में प्रभारी मंत्री ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी से पेयजल समस्या वाले गांवों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था हेतु कार्ययोजना तैयार कर शीघ्र पेयजल व्यवस्था करने के निर्देश दिये। नल-जल योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए प्राथमिकता के साथ घरों में पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा।
जिले के प्रभारी मंत्री ने जिला शिक्षा अधिकारी से स्कूल संचालन की स्थिति, स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी एवं हिन्दी माध्यम स्कूलों में शिक्षकों की पदस्थापना तथा चल रहे निर्माण कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। उन्होंने मध्यान्ह भोजन की समीक्षा की तथा सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुदृढ़ करने को कहा। डॉ. डहरिया ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों की जानकारी लेते हुए कहा कि गर्मी के मौसम को देखते हुए स्वास्थ्य केन्द्रों में सभी आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराएं। उन्होंने जिला चिकित्सालय में हमर लैब को यथाशीघ्र प्रारम्भ करने को कहा, ताकि आम व्यक्तियों को लैब से संबंधित सभी सुविधाएं अस्पताल में ही उपलब्ध हो सकें। हाट-बाजार क्लीनिक योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए इस योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने तथा हाट-बाजार क्लीनिक में आयुष्मान कार्ड बनाने के भी निर्देश दिये। मंत्री डॉ. डहरिया ने उप संचालक कृषि से खाद-बीज की उपलब्धता की जानकारी ली तथा आगामी खरीफ फसल हेतु पर्याप्त मात्रा में खाद, बीज भण्डारण करने को कहा। इसके साथ ही बैठक में गौठान, राशन, पेंशन, आंगनबाड़ी, बिजली बिल हाफ, लो-वोल्टेज, आदि के बारे में समीक्षा करते हुए कार्यों में प्रगति लाने एवं योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।
बैठक में सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष व रामानुजगंज विधायक श्री बृहस्पत सिंह, संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. प्रियंका शुक्ला, संचालक जनसंपर्क श्री सौमिल चौबे, कलेक्टर श्री कुंदन कुमार, पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू, वनमण्डलाधिकारी श्री विवेकानन्द झा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती रीता यादव सहित सर्व विभाग प्रमुख उपस्थित थे।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta