CG-DPR

सरकार तुंहर द्वार कार्यक्रम: पसान समाधान शिविर में नौ हजार से अधिक लोगों को विभिन्न सेवाओं का मिला लाभ

jantaserishta.com
24 March 2022 4:39 AM GMT
सरकार तुंहर द्वार कार्यक्रम: पसान समाधान शिविर में नौ हजार से अधिक लोगों को विभिन्न सेवाओं का मिला लाभ
x

कोरबा: सरकार तुंहर द्वार कार्यक्रम के अंतर्गत विकासखण्ड पोंडी उपरोडा के ग्राम पंचायत पसान में वृहद समाधान शिविर आयोजित किया गया। इस शिविर में एक ही दिन मंे नौ हजार 557 लोगों को फौती, नामांतरण, राशन कार्ड, पेंशन, दिव्यांगता प्रमाण पत्र, किसान क्रेडिट कार्ड आदि शिविर स्थल में ही बनाकर ग्रामीणों को दी गई। शिविर में पाली तानाखार क्षेत्र के विधायक श्री मोहित राम केरकेट्टा, बिलासपुर संभागायुक्त डॉ. संजय अलंग एवं कलेक्टर श्रीमती रानू साहू शामिल हुए। समाधान शिविर के माध्यम से ग्रामीणों के राशन, पंेंशन, मजदूर कार्ड आदि से संबंधित लंबित प्रकरणों का तत्काल निराकरण किया गया। शिविर के पहले नागरिकोे से उनकी समस्याओं से संबंधित घर-घर सर्वे करके आवेदन लिए गए थे। आवेदनों के निराकरण पश्चात सेवाओं के दस्तावेजों को शिविर स्थल में ही ग्रामीणों को दिए गए। समाधान शिविर में पसान क्लस्टर के अंतर्गत 21 ग्राम पंचायतों के नागरिकगण सेवाओं का लाभ लिए। शिविर में 22 विभागांे द्वारा विभिन्न प्रकार की सेवाएं उपलब्ध कराई गई। शिविर स्थल में राजस्व विभाग के अंतर्गत मुआवजा प्रकरण, वनाधिकार पट्टे का वितरण, फौती नामांतरण, किसान किताब, सीमांकन एवं डिजिटल हस्ताक्षरित बी-1 वितरण आदि 2501 प्रकरणों का निराकरण किया गया। जिला पंचायत मनरेगा के अंतर्गत 397 हितग्राहियों का जॉब कार्ड बनाकर दिया गया। 03 महिलाओं को मातृत्व भत्ता दिया गया। 05 चक्रीय निधि एवं 05 बैंक ऋण का वितरण किया गया। इसी प्रकार स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत 192 हितग्राहियों को शौचालय निर्माण प्रोत्साहन राशि दी गई है। समाज कल्याण विभाग द्वारा 277 हितग्राहियों को दिव्यांग उपकरण, पेंशन, जन्म - मृत्यु प्रमााण पत्र एवं दिव्यांग सहायता योजना अंतर्गत लाभांवित किया गया। खाद्य विभाग अंतर्गत 996 हितग्राहियों के नवीन राशन कार्ड, राशन कार्ड में संशोधन, नामिनी सुविधा एवं दिव्यांग, बुजुर्गाे का राशन कार्ड निर्माण किया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 44 दिव्यांगता प्रमाण पत्र, 1942 हितग्राहियों का आयुष्मान कार्ड बनाया गया। साथ ही गंभीर रूप से बीमार मरीजों का भी चिन्हांकन किया गया। आदिवासी विभाग अंतर्गत 52 विद्यार्थियों को स्थायी जाति और निवास प्रमाण पत्र वितरित किया गया।

श्रम विभाग के अंतर्गत 687 हितग्राहियों का ई-श्रम कार्ड एवं हितग्राही पंजीयन किया गया। उद्यानिकी विभाग अंतर्गत 18 किसानों को जायद फसल के लिए सब्जी सीडलिंग का वितरण किया गया। कृषि विभाग द्वारा 334 किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड, पावर वीडर, पंप, स्प्रेयर, वर्मी कम्पोस्ट, मक्का बीज एवं मिनी राइस मिल का वितरण किया गया। शिक्षा विभाग द्वारा 68 जाति, आय, निवास प्रमाण पत्र, 08 बच्चों को आवश्यक उपकरण एवं 110 छात्राओं को सरस्वती सायकल वितरण किया गया। पशुधन विभाग एवं मछली पालन विभाग द्वारा लगभग 58 हितग्राहियों को बकरा वितरण, मछली पालकों को जाल एवं आईसबाक्स का वितरण किया गया। पुलिस विभाग द्वारा 44 प्रकरणों का निराकरण किया गया। इसी प्रकार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा 510, क्रेडा विभाग द्वारा 01 एवं महिला बाल विकास विभाग द्वारा 301 हितग्राहियों को लाभंावित किया गया। समाधान शिविर में जिला पंचायत के सीईओ श्री नूतन कंवर, एसडीएम पोंडी उपरोडा श्री नंद जी पांडे, गौ सेवा आयोग के सदस्य श्री प्रशांत मिश्रा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शिवकला कंवर सहित जनप्रतिनिधिगण, आस-पास पंचायतों के सरपंच गण, ग्राम पंचायतों के नागरिक गण एवं सभी विभागों के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।
विधायक श्री मोहित राम केरकेट्टा ने नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि जनता की समस्याओं का समाधान करने के लिए वृहद समाधान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। शिविर का उद्देश्य नागरिक गणों को शासकीय योजनाओं से लाभान्वित करना और उनकी सभी समस्याओं का हल करना है। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा जनहित में विभिन्न योजनाएं लागू की गई है इनकी पहुंच जनता तक पहुंचाने के लिए ही शिविर एक माध्यम का काम कर रहा है। शिविर के माध्यम से घर-घर सर्वे करके आवेदन लेकर नागरिकों को शिविर में लाभान्वित किया जा रहा है। नागरिकों को फौती, नामांतरण, बंटवारा आदि राजस्व प्रकरणों की सुविधाओं का लाभ शिविर के माध्यम से मिल रहा है। शिविर के माध्यम से नागरिकों को राशन कार्ड, पेंशन निराकरण, किसान किताब आदि प्रदान करना ही प्रशासन का उद्देश्य है। जाति प्रमाण पत्र, जॉब कार्ड, वनाधिकार पट्टा, दिव्यांगता प्रमाण पत्र का लाभ सबको देना ही समाधान शिविर का उद्देश्य है। संभागायुक्त डॉ संजय अलंग ने समाधान शिविर के बारे में कहा कि अधिकारी कर्मचारी जनता तक पहुंच कर नागरिकों को शासकीय योजनाओं का लाभ दे रहे हैं। नागरिकों के हित को ध्यान में रखकर शासन द्वारा योजना बनाई जाती है। नागरिकों की राशन, बिजली, राजस्व आदि से संबंधित समस्याओं का निराकरण समाधान शिविर के माध्यम से किया जा रहा है। इससे नागरिक गण निश्चित तौर पर लाभान्वित होंगे। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने समाधान शिविर में सेवाओं का लाभ लेने आए नागरिकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकार तंुहर द्वार कार्यक्रम के तहत समाधान शिविर आयोजित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को शासन की सभी सेवाओं का लाभ मिल सके यही शिविर का उद्देश्य है। कलेक्टर ने कहा कि शिविर के पहले घर-घर सर्वे करके लोगों की समस्याओं से संबंधित आवेदन लेकर शिविर में नागरिकों को सेवाएं प्रदान की जा रही है। इससे लोगांे को बार-बार कार्यालय जाने की जरूरत नहीं पडेगी और शिविर में एक ही दिन मंे समस्याओं का समाधान हो जा रहा है।
गौठान मेला में पहुंचे संभागायक्त ,महिला समूह द्वारा बनाए जा रहे अचार पापड़ को देख की तारीफ-पसान में आयोजित वृहद समाधान शिविर के दौरान बिलासपुर संभाग आयुक्त डॉ संजय अलंग ने शिविर स्थल में लगाए गए गौठान मेला में महिला समूह द्वारा बनाए जा रहे विभिन्न उत्पादों का अवलोकन किया। उन्होंने समूह की महिलाओं द्वारा बनाए जा रहे मसाला पाउडर, पापड़, चटनी, अचार सहित सुगंधित चावल आदि के उत्पादन की जानकारी समूह की महिलाओं से ली। महिलाओं द्वारा किए जा रहे आजीविका संवर्धन के लिए विभिन्न कार्यों की संभागायुक्त ने प्रशंसा की। उन्होंने महिलाओं को आगे बढ़ने के लिए भी प्रोत्साहित किया। संभागायुक्त ने कैलाश महिला स्व सहायता समूह, तुलसी महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं से बात की तथा समूह की महिलाओं द्वारा बनाए जा रहे हो उत्पादों की बिक्री और होने वाले आय की जानकारी ली। ग्राम बिंझरा के कैलाश महिला स्व सहायता समूह की महिलाएं मसाला पाउडर, खड़ा मसाला, पापड़, इमली चटनी , नारियल चटनी आदि का व्यवसाय कर पिछले 20 हज़ार का लाभ कमा चुकी है। इसी प्रकार तुलसी महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा जैविक खाद एवं जैविक दवाइयों का उत्पादन कर लगभग 30 हजार रुपये का लाभ कमा चुकी हैं।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta