CG-DPR

संचालक भौमिक एवं खनिकर्म जयप्रकाश मौर्य ने आकांक्षी जिला के विभिन्न संकेतक के संबंध में ली समीक्षा बैठक

jantaserishta.com
29 April 2022 2:51 AM GMT
संचालक भौमिक एवं खनिकर्म जयप्रकाश मौर्य ने आकांक्षी जिला के विभिन्न संकेतक के संबंध में ली समीक्षा बैठक
x

राजनांदगांव: संचालक भौमिक एवं खनिकर्म तथा प्रबंध संचालक छत्तीसगढ़ राज्य खनिज विकास निगम श्री जयप्रकाश मौर्य ने आज आकांक्षी जिला राजनांदगांव के विभिन्न संकेतक के संबंध में गहन समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कहा कि जिले में अच्छा कार्य हुआ है। बेसलाईन सर्वे के आधार पर सभी संकेतकों में अच्छा कार्य किया जा रहा है। उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में आने वाले चुनौतियों और इसके लिए रणनीति बनाने एवं योजनाओं को क्रियान्वयन के संबंध में मार्गदर्शन दिया। उन्होंने जिले के मानपुर, मोहला एवं छुईखदान में संचालित सघन सुपोषण अभियान की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि कुपोषित बच्चों को चिन्हांकित कर उन्हें सुपोषण करने के लिए कारगर कदम उठाए गए हैं। स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय के प्रति लोगों का रूझान बहुत अच्छा रहा है। इन स्कूलों को उत्कृष्ट विद्यालय के तौर पर स्थापित करना है। बच्चों की प्राथमिक शिक्षा परिवर्तन की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। शिक्षा के अधिकार के तहत हर बच्चे को शिक्षा मिले। इसके लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। बच्चों की शिक्षा अबाधित गति से चलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बच्चों के स्कूल परिवर्तन होने पर स्थानांतरण प्रमाण पत्र की डाटा एन्ट्री से उन्हें ट्रैक किया जा सकता है। इसके लिए रियल टाईम डेटा प्राप्त करने हेतु साफ्टवेयर के माध्यम से डाटा बेस तैयार किया जा सकता है। उन्होंने जिले के आरोहण बीपीओ सेंटर तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत बैंक सखियों द्वारा किए जा रहे बेहतरीन कार्य की प्रशंसा की।

कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने स्वास्थ्य एवं पोषण के क्षेत्र में जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के अंतर्गत मानपुर, मोहला एवं छुईखदान विकासखंड में सघन सुपोषण अभियान अंतर्गत मिशन मोड में कार्य किया गया और बच्चों की लगातार मॉनिटरिंग की गई। जिसके सार्थक परिणाम मिले हैं। 11 बच्चे जिन्हें गंभीर बीमारी थी। उन्हें एम्स में ईलाज के लिए भेजा गया। मानपुर में वर्तमान में सभी बच्चे स्वस्थ हैं। उन्होंने बताया कि इस अभियान के अंतर्गत बच्चों को 4 समय भोजन दिया जा रहा है और लगातार उनका स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सुपोषण के प्रति जागरूकता के लिए अभियान भी चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिले में नई पहल करते हुए आईटीआई, हायर सेकेण्डरी स्कूल, स्किल डेव्हलपमेंट के अंतर्गत 20 शासकीय स्कूलों के 197 विद्यार्थी आईटीआई के सहयोग से तकनीकी कौशल विकास के लिए चयनित किए गए हैं। जिन्हें कोपा, डीजल मैकेनिक, वेल्डर, हेल्थ केयर से संबंधित प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि स्मार्ट क्लास के माध्यम से 297 स्कूलों को सुविधाएं प्रदान की गई है। उन्होंने बताया कि जिले में अन्य फसलों के रकबे में बढ़ोतरी हुई है। वहीं मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत 100 एकड़ में वृक्ष लगाए गए हैं। मुद्रा लोन के अंतर्गत लक्ष्य की प्राप्ति हो चुकी है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने बताया कि जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं में बढ़ोतरी हुई है। बसंतपुर जिला चिकित्सालय में हमर लैब की स्थापना की जा रही है। इस अवसर पर खैरागढ़-छुईखदान-गंडई के ओएसडी श्री जगदीश सोनकर, मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी के ओएसडी श्री एस जयवर्धन, जिला पंचायत सीईओ श्री लोकेश चंद्राकर, एसडीएम मोहला श्री ललितादित्य नीलम, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती निष्ठा पाण्डेय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta