CG-DPR

डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना से जिले के सभी शासकीय अस्पताल और 14 निजी अस्पतालों में निःशुल्क इलाज की सुविधा

jantaserishta.com
22 April 2022 5:26 AM GMT
डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना से जिले के सभी शासकीय अस्पताल और 14 निजी अस्पतालों में निःशुल्क इलाज की सुविधा
x

कोरबा: राज्य के नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने एवं ईलाज में होने वाले व्यय व क्षति से बचाने हेतु राज्य शासन द्वारा डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना प्रारंभ की गयी है। योजना का मुख्य उद्देश्य योजनांतर्गत पात्र परिवारों को चिन्हांकित बीमारियों के ईलाज हेतु गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना है। योजनांतर्गत राज्य के एवं राज्य के बाहर अन्य राज्यों के पंजीकृत शासकीय एवं निजी चिकित्सा संस्थानों में भर्ती, सर्जरी, जांच एवं थैरपी से संबंधित समस्त खर्च शामिल है। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना- डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना अंतर्गत स्वास्थ्य कार्डधारी हितग्राही को भर्ती होने की आवश्यकता होने पर निःशुल्क चिकित्सा लाभ प्रदान करने जिले के सभी शासकीय एवं 14 निजी चिकित्सालयों को पंजीकृत किया गया है। इसमें शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय सबद्व चिकित्सालय, सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोरबा, सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोरबा, सभी शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोरबा शामिल है। इसी प्रकार योजनांतर्गत निःशुल्क ईलाज के लिए जिले के 14 निजी चिकित्सालयों में अन्नपूर्णा नर्सिंग होम, कृष्णा हॉस्पिटल, न्यु कोरबा हॉस्पिटल, सर्वमंगला नर्सिंग होम, सिंग नर्सिंग होम, सिद्वि विनायक हॉस्पिटल, थवाईत नर्सिंग होम, सृष्टि इंस्टीट्यूट मेडिकल रिसर्च सेंटर, विनायक हॉस्पिटल पाली, आयुष्मान नर्सिंग होम, बालको हॉस्पिटल, गणेश विनायक आई हॉस्पिटल, प्रसाद नेत्रालय एवं दानी आई हॉस्पिटल शामिल हैं। योजनांर्गत शामिल जिले के बाहर के अस्पतालों की सूची डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना की वेबसाईट में जाकर अवलोकन किया जा सकता है। इन सभी अस्पतालों में आयुष्मान कार्डधारी हितग्राहियों को उपलब्ध पैकेजो के अंतर्गत निःशुल्क ईलाज का लाभ दिया जाता है। इस संबंध में किसी भी प्रकार की जानकारी या शिकायत के लिए टोल फ्री नम्बर 104 पर फोन करके या कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कोरबा से संपर्क कर सकते है। निःशुल्क ईलाज के लिए आयुष्मान भारत स्वास्थ्य कार्ड बनाया जा रहा है। आयुष्मान भारत कार्ड पंजीकृत निजी एवं शासकीय अस्पतालों एवं च्वाईस सेंटरो में निःशुल्क बनाया जा रहा है। आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए राशन कार्ड के साथ आधार कार्ड लेकर च्वाईस सेंटरो में जाना होता हैं। आयुष्मान कार्ड के माध्यम से योजनांतर्गत निःशुल्क ईलाज प्रदान किया जाता है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.बी. बोडे ने बताया कि योजनांतर्गत हृदय, फेफडे, यकृत, अग्नाशय, किडनी, न्यूरोसर्जरी, बच्चों की जन्मजात बीमारियों, नवजात, जलने संबंधी, कैंसर का ईलाज सर्जरी, किमो थेरपी, रेडियो थैरेपी, पॉलीट्रामा (एम.वी. एक्ट में शामिल प्रकरणों सहित) एवं अन्य जटिल प्रक्रियाएं शामिल की गई है। योजनांतर्गत उपरोक्त बीमारियों केे ईलाज का लाभ मरीजो को प्राप्त होगा। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजनांतर्गत पात्र परिवार अर्थात सामाजिक, आर्थिक एवं जातीय जनगणना के पात्र परिवार एवं छत्तीसगढ में लागू खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत् राशन कार्डधारी परिवार योजनांतर्गत पात्र होंगे। पात्र परिवार को उनकी पात्रता के अनुसार पांच लाख रूपये एवं 50 हजार रूपये तक की स्वास्थ्य सहायता प्रदान की जा रही है। योजनांतर्गत समस्त ईलाज लाभ हितग्राहियों को पूरी तरह नकद-रहित आधार पर प्रदान किये जा रहे है। वर्तमान में जिले के दो लाख 73 हजार 770 परिवारों के छह लाख 53 हजार 896 सदस्यो का सत्यापन कर आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड जारी किया जा चुका है एवं प्रक्रिया निरंतर जारी है।
योजनांतर्गत सामाजिक, आर्थिक एवं जातीय जनगणना अंतर्गत निर्धारित वंचित श्रेणी के परिवार तथा अन्त्योदय व प्राथमिकता के क्रियाशाील राशन कार्डधारी परिवारों को पंजीकृत चिकित्सालयों में योजना के निर्धारित चिकित्सा पैकेजों के माध्यम से भर्ती होने की स्थिति में, प्रतिवर्ष (फैमिली फ्लोटर आधार पर) प्रति परिवार पांच लाख रूपये तक के निःशुल्क ईलाज प्रदान किया जाता है। उपरोक्त श्रेणियों के अतिरिक्त राज्य के क्रियाशील शेष अन्य सभी प्रकार के राशन कार्डधारी परिवारों को योजनांतर्गत पंजीकृत चिकित्सालयों में योजना के निर्धारित चिकित्सा पैकेजों के माध्यम से भर्ती होने की स्थिति में, प्रतिवर्ष (फैमिली फ्लोटर आधार पर) प्रति परिवार 50 हजार रूपये तक के निःशुल्क ईलाज प्रदाय किया जाता है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta