CG-DPR

मनरेगा योजनांतर्गत भूमि समतलीकरण कर कोचवाही के बासनबाई एक वर्ष में ले रही हैं दो फसलों का लाभ

jantaserishta.com
11 March 2022 2:46 AM GMT
मनरेगा योजनांतर्गत भूमि समतलीकरण कर कोचवाही के बासनबाई एक वर्ष में ले रही हैं दो फसलों का लाभ
x

उत्तर बस्तर कांकेर: महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजनांतर्गत जनपद पंचायत नरहरपुर के ग्राम पंचायत कोचवाही के किसान 56 वर्षीय बासनबाई कोरेटी ने जॉबकार्ड के माध्यम से परिवार के चार सदस्य शिवराम, बासनबाई, पुत्र रूपेश, बहु शिवबती पंजीकृत है।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजनांतर्गत किसान बासनबाई कोरेटी के बंजर एवं परती भूमि को समतलीकरण कर फसल उगाने लायक बनाया गया। भूमि समतलीकरण करवाने के लिए ग्राम पंचायत के माध्यम से जनपद पंचायत नरहरपुर में आवेदन प्रस्तुत किया गया, तत्पश्चात बासनबाई को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना के तहत् 54 हजार 260 रूपये की स्वीकृति प्रदान की गई। उक्त कार्य के लिए 50 हजार 765 रूपये मजदूरी भुगतान किया गया, जिसमें 262 मानव दिवस सृजित हुआ।
कृषक बासनबाई ने बताया कि पूर्व उनकी जमीन कृषि योग्य नहीं था, ग्राम पंचायत कोचवाही में कई किसानों के जमीन का भूमि समतलीकरण कार्य किया गया था, चूंकि वह खुद महात्मा गांधी नरेगा अंतर्गत उक्त कार्यों में श्रमिक के रूप मे कार्य कर चुकी थी। इसलिए उसे समतलीकरण कार्यां से लाभ लेने की जानकारी थी। जिसके बाद वह स्वयं के बंजर जमीन पर समतलीकरण कार्य करवाने हेतु ग्राम पंचायत मे आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन किया। प्रशासकीय स्वीकृति उपरांत भूमि समतलीकरण कार्य करवाकर कृषि योग्य बनाया गया, जिसमे बासनबाई कोरेटी के द्वारा वर्तमान मे दो फसलें ली जा रही है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta