इस लड़की ने बारिश से बिजली बनाने वाला डिवाइस बनाया

0

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :   बिजली के बिना किसी देश की उन्नति की कल्पना भी नहीं की जा सकती। दुनिया में कुछ देश ऐसे हैं जहां पर एक मिनट के लिए भी बिजली नहीं जाती तो कुछ देश ऐसे भी हैं, जहां पर इसकी भारी किल्लत रहती है। आज हम बिजली को लेकर किए जाने वाली नए अविष्कार के बारे में बात कर रहे हैं, जो एक लड़की द्वारा किया जा रहा है। यह लड़की अजरबैजान की रहने वाली रेगान जामालोवा है। खास बात यह है कि अभी उसकी उम्र महज 15 साल की है और वह नौवी कक्षा की छात्रा है। जिसने ऐसी डिवाइस बना दी जो बारिश की बूंदों से भी बिजली बना रही है। जामालोवा ने अपने इस डिवाइस को रेनर्जी का नाम दिया है।  इसकी डिवाइस की खास बात यह है कि इससे बनी बिजली को बैटरी में सरंक्षित करके रखा जा सकता है। इसके बाद में घरों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं, अभी यह सिर्फ एक प्रोटोटाइप है, जिसमें 7 लीटर पानी आ सकता है।

रेगान के मन में यह विचार आया कि अगर हवा से बिजली बनाई जा सकती है को फिर बारिश की बूंदों के पानी से क्यों नहीं। उसने इस बारे में अपने पिता से बात की। जब वह गंभीर रूप से इसे सोचने लगी तो फिर अपनी सहेली जहरा के साथ मिलकर इस पर काम करने लगी। इस काम में उनके फिजिक्स अध्यापक ने भी बहुत मदद की। बारिश से बिजली बनाने वाली यह डिवाइस 9 मीटर लंबी है जिसके चार हिस्से हैं- रेनवॉटर कलेक्टर, वॉटर टैंक, इलेक्ट्रिक जेनरेटर और बैटरी। रेगान की इस उपलब्धि के कारण अजरबैजान की सरकार ने उन्हें 20 हजार डॉलर रुपये का अनुदान भी दिया। इस डिवाइस से इतनी बिजली बन जाती है कि घर की 3 एलईडी लाइट्स आसानी से जल सकती हैं। इसके अलावा रेनर्जी की खास बात यह भी है कि इससे किसी भी तरह का कोई प्रदूषण नहीं होता।  दुनिया में कई ऐसे देश हैं, जहां साल भर बारिश होती है लेकिन बिजली की कमी है। इसी के साथ रेगान जामालोवा का विचार है कि इससे विकसित नहीं हुए देश को बहुत मदद मिल सकती है।